Sunday , November 19 2017
Home / International / सीरिया: अल नस्रा फ्रंट का क़ायदा से अलग होने का एलान

सीरिया: अल नस्रा फ्रंट का क़ायदा से अलग होने का एलान

सीरिया के जिहादी ग्रुप जबहात अल नस्रा ने अल क़ायदा से अलग होने का एलान किया है। ये संगठन नस्रा फ्रंट के नाम से भी जाना जाता है। संगठन के नेता अबु मोहम्मद अल जुलानी ने अपने रिकॉर्डेड संदेश में कहा कि संगठन का नाम जबहात फतेह अल शाम होगा। इसका मतलब है सीरिया फतह करने के लिए बना फ्रंट।

माना जा रहा है कि ये संगठन सीरिया में संघर्ष कर रहे दूसरे इस्लामी कट्टरपंथी संगठनों के साथ क़रीबी गठजोड़ बनाने की उम्मीद में हैं। अल क़ायदा में दूसरे नंबर के नेता अहमद हसन अबु अल खैर ने नस्रा फ्रंट के इस क़दम का समर्थन किया था।

बीते गुरुवार को अल खैर ने कहा था कि उनके संगठन ने “नस्रा फ्रंट के नेतृत्व को निर्देश दिया है कि वो सीरिया में इस्लाम और मुसलमानों के हितों के संरक्षण और जिहाद को बचाए रखने के लिए आगे बढ़े।”

अल जज़ीरा के अरबी न्यूज़ चैनल पर प्रसारित संदेश में अल जुलानी ने “अल क़ायदा के कमांडरों को धन्यवाद, कि उन्होंने गठजोड़ तोड़ने की ज़रूरत को समझा।” उन्होंने कहा, “ये फ़ैसला अंतरराष्ट्रीय समुदाय ख़ासकर अमरीका और रूस की ओर से लगातार की जा रही बमबारी और अल नस्रा फ्रंट पर बमबारी के बहाने सीरिया के मुस्लिम समुदाय के विस्थापन के छल को सामने लाने के लिए किया गया है।”

उन्होंने कहा, “नए संगठन का विदेशी संगठनों से कोई संबंध नहीं होगा।” विश्लेषकों का कहना है कि अमरीका और रूस की सैन्य कार्रवाई तेज़ होने के बाद नस्रा फ्रंट ने खुद को नई पहचान देने का फ़ैसला किया है।

TOPPOPULARRECENT