Thursday , December 14 2017

सीरिया का नव निर्माण: लागत डेढ़ सौ अरब डॉलर से ज़ाइद – विश्व बैंक

विश्व बैंक के सदर के मुताबिक़ ख़ाना-जंगी के शिकार मुल्क सीरिया में क़ियाम अमन के बाद तामीर-ए-नव पर क़रीब डेढ़ सौ अरब डॉलर से ज़ाइद की लागत आएगी और इस अमल में डोनर रियास्तों के लिए तेल की कमतर क़ीमतें काफ़ी मसाइल पैदा कर सकती हैं।

वाशिंगटन से जुमेरात 14 अप्रैल को मौसूला न्यूज़ एजेंसी रोइटर्स की रिपोर्टों के मुताबिक़ वर्ल्ड बैंक के सदर जिम योंग किम ने आज कहा कि इस वक़्त शामी तनाज़े के हल के लिए जो कोशिशें की जा रही हैं, उनकी कामयाब तकमील और क़ियाम अमन के बाद मशरिक़े वुस्ता की इस रियासत की तामीर-ए-नव के लिए जो माली वसाइल दरकार होंगे, उनमें इस खित्ते की रियास्तें भी अपना किरदार अदा करेंगी।

ताहम जिम योंग किम ने ये भी कहा कि मशरिक़े वुस्ता की तेल की दौलत से माला-माल रियास्तों के लिए आमदनी का बड़ा ज़रीया उसी तेल की आलमी मंडीयों में फ़रोख्त है।

इसलिए ये ख़दशा अपनी जगह है कि इन अरब मुल्कों को तामीर-ए-नव में सीरिया का हाथ बटाने के लिए माली मदद करते हुए काफ़ी हद तक मुश्किलात का सामना भी करना पड़ सकता है। वर्ल्ड बैंक के सदर के मुताबिक़ उस की बड़ी वजह आलमी मंडीयों में तेल की बहुत कम क़ीमतें होंगी।

TOPPOPULARRECENT