Monday , December 18 2017

सी पी आई का ऐवान से एहतेजाजन वाक आउट

सी पी आई ने टी आर एस के अरकान असेंबली को दो दिन के लिए मोअत्तल करने पर बतौर-ए-एहतेजाज ऐवान से वाक आउट किया और तेलंगाना मसला के तात्तुल के लिए कांग्रेस को ज़िम्मेदार क़रार दिया। असेंबली के मीडीया प्वाईंट पर मीडीया से बातचीत करते हु

सी पी आई ने टी आर एस के अरकान असेंबली को दो दिन के लिए मोअत्तल करने पर बतौर-ए-एहतेजाज ऐवान से वाक आउट किया और तेलंगाना मसला के तात्तुल के लिए कांग्रेस को ज़िम्मेदार क़रार दिया। असेंबली के मीडीया प्वाईंट पर मीडीया से बातचीत करते हुए सी पी आई के डिप्टी फ़्लोर लीडर मिस्टर सांबा शेवा राव ने कहा कि अलहदा तेलंगाना रियासत तशकील देने का ऐलान करने के बाद मर्कज़ी हुकूमत ने वाअदा से इन्हिराफ़ किया, जिस से दिलबर्दाशता होकर 700 से ज़ाइद नौजवानों ने ख़ुदकुशी की है।

वाअदा के मुताबिक़ कांग्रेस पार्टी को असेंबली में क़रारदाद पेश करना चाहीए। 2004ए- में कांग्रेस पार्टी ने टी आर ऐस और सी पी आई से इत्तिहाद करते हुए अलहदा तेलंगाना रियासत तशकील देने का वाअदा किया, मगर इक़तिदार हासिल होने के बाद तेलंगाना का वाअदा पूरा करने से इनकार किया जा रहा है।

तलबा और नौजवानों की ख़ुदकुशी की ज़िम्मेदार हुकूमत है। सरबराह टी आर ऐस मिस्टर के चन्द्र शेखर रावकी भूक हड़ताल के मौक़ा पर बहैसीयत चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर के रोशिया ने 7 दिसंबर 2009-ए-को सकरीटरीट में कल जमाअती इजलास तलब किया था। इस वक़्त तमाम जमातों ने तेलंगाना की ताईद की थी, जिस का जायज़ा लेने के बाद 9 दिसंबर 2009-ए-को मर्कज़ीवज़ीर-ए-दाख़िला मिस्टर पी चिदम़्बरम ने अलहदा तेलंगाना रियासत तशकील देने का ऐलान किया था।

बादअज़ां सीमा। आंधरा क़ाइदीन के दबाव के बाद तेलंगाना के वाअदा से इन्हिराफ़ किया गया, जिस के बाद ही एहतेजाज में शिद्दत पैदा हुई और तलबा-ओ-नौजवानों ने ख़ुदकुशी की। उन्हों ने कहा कि तेलंगाना मसला पर कांग्रेस पार्टी अवाम को धोका दे रही है। तेलंगाना के हामी होने का दावा करने वाले वुज़रा और कांग्रेस के अरकान असेंबली-ओ-अरकान-ए-पार्लीमैंट मुस्ताफ़ी हो कर पार्टी सदर मिसिज़ सोनीया गांधी और वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह पर दबाव डालते हुए अलहदा तेलंगाना रियासत की तशकील को यक़ीनी बनाईं, वर्ना तेलंगाना के अवाम कांग्रेस को कभी माफ़ नहीं करेंगे।

टी आर ऐस अरकान असेंबली की मुअत्तली जमहूरीयत पर धब्बा है, जिस की सारी ज़िम्मेदारी चीफ़ मिनिस्टर के इलावा रियास्ती-ओ-मर्कज़ी हुकूमतों पर आइद होती है। तेलगू देशम पार्टी भी तेलंगाना क़रारदाद मंज़ूर होने के बाद अपने वाअदा से मुनहरिफ़ हो रही है? के सवाल का जवाब देते हुए उन्हों ने कहा कि हमारा असल निशाना कांग्रेस पार्टी है, क्योंकि रियासत और मर्कज़ में कांग्रेस पार्टी बरसर-ए-इक्तेदार है।

TOPPOPULARRECENT