Sunday , December 17 2017

सी बी आई के साम्ने कुछ् मंत्रीयों की पेशि इंतिहाई शर्मनाक

* किसानों से हासिल कि हुइ जमीनें वापिस कर देने डाक्टर नारायणा का मुतालिबा

* किसानों से हासिल कि हुइ जमीनें वापिस कर देने डाक्टर नारायणा का मुतालिबा

हैदराबाद (सियासत न्यूज़ ) रियास्ती सी पी आई ने कुछ राज्य मंत्रियों के सी बी आई के बुलाने पर जांच के लिए सी बी आई के साम्ने पेश होने को इंतिहाई शर्मनाक वाक़िया बताया और बहुत सारी बे क़ाईदगीयाँ पेश आने वाले अम्मार , वांपक ,सोमपेट और अन्य अहम‌ मआशी ज़ोंस को तुरंत रद‌ करदेने का राजय सरकार‌ से पुर ज़ोर मुतालिबा किया ।

रियास्ती सेक्रेटरी सी पी आई डाक्टर के नारायणा ने अपना ये ख़्याल जाहिर‌ किया और बताया कि अहम‌ मआशी ज़ोंस के नाम पर जो जमीनें किसानों से ज़बरदस्त हासिल कि गइं थी उन जमीनों को तुरंत‌ वापिस हासिल कर के इन किसानों के हवाले कर देने की ज़रूरत है ।

उन्हों ने राज्य सरकार‌ और मंत्रीयों को अपनी कडी आलोचना का निशाना बनाते हुए कहा कि राज्य मंत्री जो दूसरों के लिए मिसाल हुवा करते हैं लेकिन आज वही मंत्री सी बी आई के साम्ने जांच‌ के लिए रुजू होरहे हैं जो कि इंतिहाई श्रम की बात है ।

राजय‌ सेक्रेटरी सी बी आई डाक्टर के नारायणा ने एसे राजय मंत्री जो सी बी आई जांच‌ का सामना कर रहे हैं इन से तुरंत‌ अपने काबीनी ओहदों से अलाहिदा होकर जांच‌ के लिए सी बी आई के साम्ने पेश होने का मुतालिबा किया ।

उन्हों ने राज्य‌ में किसानों के मस्लों का जीक्र करते हुए कहा कि अगर देखा जाये तो हक़ीक़त में किसान ही मुलक (क़ौम के ) के हुक्मराँ (बादशाह ) हैं । लेकिन रियास्ती‍ ओर‌-मर्कज़ी हुकूमतें किसानों पर तवज्जा ना देते हुए उन्हें हमेशा नज़रअंदाज करती हैं ।

उन्हों ने हुकूमत पर इल्ज़ाम लगाया कि किसानों को अछ्छी क़ीमतों की अदायगी के लिए ग़ैर ज़रूरी तौर पर देर‌ कर रही हैं ।इस के इलावा उन्हों ने ये भी इल्ज़ाम ल्गाया कि असेंबली सदस्यों की तरफ‌ से असेंबली में मुरत्तिब किए जाने वाले कानुन‌ किसानों के खिलाफ‌ हैं जिस की वजह से किसान अपनी परेशानीयों और मस्लों को हल कर लेने में नाकाम साबित होरहे हैं ।इस लिये रियासत में किसानों के कइ मस्लों को जलद से जलद हल करने के लिए सहिह‌ इक़दामात करने का डाक्टर नारायणा ने हुकूमत से मुतालिबा किया ।

TOPPOPULARRECENT