Friday , August 17 2018

सी बी आई पर कड़ी नज़र रखने सैंटर्ल वीजलेंस कमीशन का मज़बूत मैकेनिज्म

नई दिल्ली संगीन या नाज़ुक केसों की तहक़ीक़ात के अमल पर नज़र रखना ज़रूरी

नई दिल्ली

संगीन या नाज़ुक केसों की तहक़ीक़ात के अमल पर नज़र रखना ज़रूरी

कोलगेट और दीगर निहायत हस्सास-ओ-नाज़ुक केसों का हवाला देते हुए सैंटर्ल वीजलेंस कमीशन ने सी बी आई की कारकर्दगी पर कड़ी नज़र रखने के लिए अपनी बाला-ए-दस्ती को मज़बूत बनालिया है। संगीन और नाज़ुक केसों की तहक़ीक़ात के अमल का गहराई से जायज़ा लिया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने सी वी सी से कहा कि वो इन तमाम मुक़द्दमात में उसकी तन्क़ीह शूदा रिपोर्टस को एहमीयत दी जाएगी। सी बी आई और सी वे सी के दरमियान मल्टी करोड़ कोयला ब्लॉक्स तख़सीस अस्क़ाम की तहक़ीक़ात के मसले पर शदीद इख़तिलाफ़ात पाए जाते हैं।

कमीशन ने कई इबतेदाई तहक़ीक़ाती रिपोर्टस को बंद करने की मुख़ालिफ़त की है। सी बी आई की जानिब से जो तहक़ीक़ात दर्ज करवाई गई थीं उन्हें बंद कर दिया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने सी वे सी से कहा कि इन तमाम केसों में तन्क़ीह शूदा रिपोर्टस दाख़िल की जाएं ।

सी वे सी की हेत तर केबी के तहत सी बी आई को कमीशन की जानिब से मतलूब मख़सूस डाटा फ़राहम करना होगा। इस के साथ साथ इबतेदाई तहक़ीक़ात की तमाम तफ़सीलात और डाटा देना होगा। सी बी आई पर अपनी बालादस्ती को मज़बूत बनाने की ग़रज़ से सी वे ई ने मूसिर कार्यवाहीयां शुरू की हैं। कमीशन का एहसास है कि हालिया महीनों में सी बी आई की कारकर्दगी पर तन्क़ीदें हुई हैं।

TOPPOPULARRECENT