Thursday , December 14 2017

सुरक्षा की दृष्टि से मक्का मस्जिद की मरम्मत ज़रूरी

हैदराबाद: तेलंगाना की सरकार ने वादा किया था कि प्रदेश की जितनी भी एतिहासिक इमारतें हैं उनको सजाएगी और इस वादे में मक्का मस्जिद का नाम भी शामिल था. 2 जून 2016 को तेलंगाना फार्मेशन डे मनाया जाना है लेकिन मक्का मस्जिद अभी भी सजावट और मरम्मत के काम को तरस रही है.

लगभग हर साल ये होता है कि मक्का मस्जिद का मुवाइना रमज़ान से पहले किया जाता है , कुछ वादे किये जाते हैं और होता कुछ नहीं है. पिछले दो सालों से छत की मरम्मत का काम बाक़ी है, बारिश का पानी मस्जिद के अन्दर तक टपकता है. माइनॉरिटीज वेलफेयर के पूर्व डायरेक्टर जलालुद्दीन अकबर ने पुरातत्व विभाग के अफसरान को 1.7 करोड़ का बजट बना के भेजा था लेकिन सरकार के सर पे जू नहीं रेंग रही. वहीँ तेलंगाना सरकार ने मशहूर आर्किटेक्ट शरत चन्द्र को इस बाबत प्रोजेक्ट बनाने को दिया है लेकिन समझने की बात है कि जब तक इस पर कोई काम शुरू होगा, बारिश का मौसम और रमजान दोनों बीत जायेंगे. ज़रूरी ये है कि कुछ क़दम जल्दी उठाये जाएँ

मस्जिद के कंपाउंड में लगे २३ CCTV कैमरे ख़राब पड़े हैं. अफ़सरों इसकी जैसे कोई चिंता ही नहीं है जबकि सुरक्षा की दृष्टि से ये बड़ा मामला है. हाल ही के दिनों में डिप्टी CM महमूद अली ने भी मस्जिद का दौरा किया था और रमजान से पहले पहले मरम्मत करा देने का वादा भी कर दिया था लेकिन अभी तक इस बारे में कोई काम नहीं हुआ है. ये बड़े ही अफ़सोस की बात है कि तेलंगाना फार्मेशन डे पर बेतहाशा पैसा खर्च करने वाली इस सरकार के पास मक्का मस्जिद की मरम्मत को पैसे नहीं हैं

(सिआसत )

TOPPOPULARRECENT