Saturday , January 20 2018

सुहराब उद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी एनकाउंटर केस

अहमदाबाद ।०७ । सितंबर : ( एजैंसीज़ ) : सुहराब उद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी एनकाउंटर केस में सी बी आई अनक़रीब ज़िमनी चार्ज शीट ( फ़हरिस्त इल्ज़ामात ) दाख़िल करनेवाली है जिस से गुजरात आंधरा प्रदेश और राजिस्थान के मज़ीद कई पुलिस ओहदेदारों और सि

अहमदाबाद ।०७ । सितंबर : ( एजैंसीज़ ) : सुहराब उद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी एनकाउंटर केस में सी बी आई अनक़रीब ज़िमनी चार्ज शीट ( फ़हरिस्त इल्ज़ामात ) दाख़िल करनेवाली है जिस से गुजरात आंधरा प्रदेश और राजिस्थान के मज़ीद कई पुलिस ओहदेदारों और सियासतदानों की मुसीबतों में इज़ाफ़ा होसकता है । इस बात का भी इमकान है कि सी बी आई की येज़िमनी चार्ज शीट सुहराब उद्दीन शेख़ की अहलिया कौसर बी के क़तल के बारे में राज़ के जो पर्दे पड़े हैं उन्हें हटा देगी और इस ख़ातून के क़तल की घतियों को सुलझाएगी ।

सी बी आई ज़राए का कहना है कि तुलसी राम प्रजापति चार्ज शीट का क़ानूनी अमल तकमीलपाने के साथ ही तहक़ीक़ाती एजैंसी सुहराब उद्दीन शेख़ फ़र्ज़ी एनकाउंटर केस में ज़िमनी चार्ज शीट दाख़िल करेगी । यहां इस बात का तज़किरा ज़रूरी होगा कि 22 नवंबर 2005 को हैदराबाद के क़रीब सालगी से सुहराब उद्दीन शेख़ , उन की अहलिया कौसर बी और उन के दोस्त तुलसी राम प्रजापति का गुजरात पुलिस के ओहदेदारों ने आंधरा प्रदेश पुलिस केमुबय्यना तआवुन-ओ-मदद से अग़वा करलिया था । बताया जाता है कि आंधरा प्रदेश पुलिस ने ना सिर्फ इन तीनों के अग़वा में गुजरात पुलिस की मदद की बल्कि इस ने इन तीनों को अपनी निगरानी में गुजरात तक पहुंचाया ।

ज़राए का कहना है कि ये हक़ायक़ इस केस में पेश की गई पहली चार्ज शीट में शामिल ना किए जा सके थे । बावसूक़ ज़राएका कहना है कि सी बी आई ओहदेदारों ने सुहराब उद्दीन शेख़ को क़तल करने की साज़िशके मुख़्तलिफ़ हक़ायक़ की तहक़ीक़ात मुकम्मल करली है । इस तहक़ीक़ाती एजैंसी ने ये भी पता लगाया है कि सुहराब उद्दीन शेख़ , कौसर बी और तुलसी राम प्रजापति के अग़वा और क़तल में मुबय्यना तौर पर मदद करने आंधरा प्रदेश पुलिस को किस ने हिदायत दी थी ।

ये भी बताया जाता है कि आंधरा प्रदेश से ताल्लुक़ रखने वाले दो सीनईर पुलिस ओहदेदारों से इस ज़िमन में पूछताछ की गई क्यों कि ये दोनों ओहदेदार साज़िश-ओ-क़तल का हिस्सा थे । आंधरा प्रदेश के इन दोनों पुलिस ओहदेदारों को पूछताछ के लिए गांधी नगर भी तलब किया गया था ।

ज़राए के मुताबिक़ सी बी आई की ज़िमनी चार्ज शीट में इन नकात और हक़ायक़ पर भी रोशनी डाली जाएगी कि सुहराब उद्दीन शेख़ कौसर बानो और तुलसी राम प्रजापति के क़तल की साज़िश में राजिस्थान पुलिस के आला ओहदेदार और सियासतदां जुड़े रहे । वाज़िह रहे कि सैंटर्ल ब्यूरो आफ़ अनोसटीगीशन के ओहदेदारों ने इस वक़्त राजिस्थान के वज़ीर-ए-दाख़िला रहे गुलाब चंद कटारिया से भी पूछताछ करचुके हैं । तवक़्क़ो है किकौसर बी को किस ने और कैसे क़तल क्या । इस बारे में भी ज़िमनी चार्ज शीट में वाक़िफ़ करवाया जाएगा ।

साथ ही ये भी बताया जाएगा कि फ़र्ज़ी एनकाउंटर से क़बल तुलसी राम प्रजापति को किस तरह अहमदाबाद से बंस कनथा लाया गया था । वाज़िह रहे कि सुहराबउद्दीन शेख़ उन की अहलिया कौसर बानो के बारे में आम तौर पर कहा जाता है कि आंधरा प्रदेश पुलिस के बाअज़ ओहदेदारों ने गुजरात पुलिस के साथ तआवुन करते हुए इस जोड़े को हैदराबाद में तहवील में रखा और फिर गुजरात रवाना किया गया इस बारे में एक और थियूरी ये है कि कौसर बी को आंधरा प्रदेश पुलिस के बाअज़ ओहदेदारों ने हैदराबाद में रखा जब कि ये भी इल्ज़ाम है कि कौसर बी को क़तल करने से क़बल उन की इजतिमाई आबरू रेज़ी भी की गई ।।

TOPPOPULARRECENT