Tuesday , December 12 2017

सूट बूट सरकार के शाहाना ठाट बाट

नई दिल्ली: वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी के बैरूनी दौरे से और उन पर भारी मसारिफ़ अपोज़ीशन की तन्क़ीदों का मौज़ू बने हुए हैं। इस दौरान क़ानून हक़ मालूमात के तहत मौसूला सरकारी इत्तेलाआत के मुताबिक़ मोदी के 16 बैरूनी दौरों पर 37 करोड़ रुपये ख़र्च हो चुके हैं। उनका सबसे सस्ता दौरा भूटान का था, जिस पर 41.33 लाख रुपये ख़र्च हुए जबकि आस्ट्रेलिया का दौरा सबसे महंगा साबित हुआ जिस पर सरकारी ज़राए के मुताबिक़ 8.91 करोड़ रुपये ख़र्च हुए, जिनमें होटल में क़ियाम के मसारिफ़ 5.60 करोड़ रुपये और कारों के किरायों पर 2.40 करोड़ रुपये ख़र्च हुए।

दौरा न्यूयार्क पर 6.13 करोड़ रुपये ख़र्च हुए जिनमें होटल में क़ियाम का किराया 20.67 लाख रुपये भी शामिल है। दौरा चीन पर 2.34 करोड़ के मसारिफ़ आइद हुए, जिनमें होटल किराया पर 1.06 करोड़ रुपये और कारों के किराया पर 60.88 लाख रुपये शामिल हैं। मोदी के दौरा बंगला देश पर 1.35 करोड़ रुपये के मसारिफ़ आए जिनमें होटल का किराया 19.35 लाखा रुपये।

समात-ओ-तर्जुमा के आलात पर 28.55 लाख रुपये। इंटरनेट के मसारिफ़ 13.83 लाख रुपय भी शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT