Friday , December 15 2017

सूफ़ी शायर धनंजय कोल ने समां बांध दिया, शायक़ीन लुतफ़ अंदोज़

हैदराबाद २८ मार्च ( सियासत न्यूज़ ) शहरयान हैदराबाद की एक कसीर तादाद आज शाम सूफियाना गायकी से लुतफ़ अंदोज़ हुई । मशहूर सूफ़ी शायर धनंजय कोल के साथ एक शाम सूफियाना गायकी के नाम का महबूब हुसैन जिगर हाल अहाता रोज़नामा सियासत मेंएहतिम

हैदराबाद २८ मार्च ( सियासत न्यूज़ ) शहरयान हैदराबाद की एक कसीर तादाद आज शाम सूफियाना गायकी से लुतफ़ अंदोज़ हुई । मशहूर सूफ़ी शायर धनंजय कोल के साथ एक शाम सूफियाना गायकी के नाम का महबूब हुसैन जिगर हाल अहाता रोज़नामा सियासत मेंएहतिमाम किया गया था ।

ऐडीटर सियासत जनाब ज़ाहिद अली ख़ां ने सदारत की जबकि तलगो देशम के सीनीयर क़ाइद ऐस ऐम लाल जान बाशा पद्मश्री जनाब मुजतबा हुसैन औरदीगर मोअज़्ज़िज़ीन तक़रीब में शरीक थे । शहरयान हैदराबाद की कसीर तादाद बिशमोलख़वातीन इस महफ़िल में मौजूद थी और सभी ने धनंजय कोल की सूफियाना गुलूकारी का लुतफ़ उठाया ।

हैदराबादी फ़नकारों में ख़ान अतहर और ख़ाल इक़बाल ने अपने फ़न का जादू जगाया । ख़ान अतहर ने हमद से प्रोग्राम का आग़ाज़ किया और दो कलाम पेश किए । जनाब ख़ालिद इक़बाल ने भी अपने दिलफ़रेब अंदाज़ में कलाम पेश करते हुए सामईन को महज़ूज़ क्या । सूफ़ी गुलूकार धनंजय कोल ने हैदराबादी शायक़ीन को अपने सूफियाना कलाम से महज़ूज़ करते हुए समां बांध दिया था । उन्हों ने कई शोअरा के सूफियाना कलाम पेश करते हुए सामईन से दाद-ओ-तहसीन हासिल की ।

धनंजय कोल ने मज़हबी रंग केहामिल सूफ़ी कलाम पर खासतौर पर अपने फ़न का जादू जगाया और मन कनत मूली क़व्वाली को अपने मुनफ़रद और बेहतरीन अंदाज़ में पेश किया और दाद-ओ-तहसीन हासिल की । हैदराबादी शायक़ीन अपनी मेहमान नवाज़ी और अदब परस्ती का सबूत देते हुए सूफ़ीगाइक की हौसलाअफ़्ज़ाई कर रहे थे । धनंजय कोल के साथ तबला पर सरदार ख़ान और हार मुनीम पर यहयय साक़िब कमाल ने संगत की ।

TOPPOPULARRECENT