सूर्यवंशी की अभिनेत्री निहारिका रायजादा : भारत ने मुझे धैर्य सिखाया

   

मुंबई, 21 नवंबर । अभिनेत्री निहारिका रायजादा का कहना है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके लक्जमबर्ग समकक्ष जेवियर बेट्टेल के बीच हालिया वर्चुअल शिखर सम्मेलन एक अच्छी शुरुआत है और उन्हें उम्मीद है कि भविष्य में दोनों देश क्रॉस-कल्चरल सिनेमा पर काम करेंगे।

ADVERTISEMENT

अभिनेत्री, जो जल्द ही अक्षय कुमार-अभिनीत सूर्यवंशी में नजर आएंगी, दिवंगत दिग्गज संगीतकार ओ. पी. नैयर की पोती हैं। निहारिका लक्जमबर्ग में पैदा हुई और पली बढ़ी हैं और एक सेलिब्रिटी हैं, जो दोनों देशों का प्रतिनिधित्व करती हैं। वह लक्जमबर्ग और भारतीय गणराज्य के बीच मानद सांस्कृतिक और कला राजदूत भी हैं।

निहारिका ने आईएएनएस से कहा, मुझे खुशी है कि दोनों देशों ने बातचीत शुरू की है। समय के साथ, मुझे उम्मीद है कि दोनों देश मनोरंजन, कला और संस्कृति क्षेत्र पर भी ध्यान केंद्रित करेंगे। दोनों देशों के बीच साझा करने के लिए बहुत कुछ है।

उन्होंने कहा, क्रॉस-कल्चरल सिनेमा भविष्य है और कला और रचनात्मकता के मामले में दोनों देशों में बहुत समानताएं हैं। मैं भविष्य के बारे में उत्साहित हूं, क्योंकि मैं जन्म, मूल्यों, काम और जीन्स के मामले में दोनों ही देशों का प्रतिनिधित्व करती हूं।

अभिनेत्री ने दोनों देशों से जो कुछ भी सीखा, उसके बारे में भी बताया। उन्होंने कहा, मैं पहली भारतीय-लक्जमबर्ग से हूं, जिसे ब्रिटेन में मिस इंडिया का ताज पहनाया गया। इसके अलावा मैं मिस इंडिया वल्र्डवाइड में फस्र्ट रनर-अप रही हूं। मैं अपने दो मूलों (ओरिजिन) से बहुत जुड़ी हुई हूं। लक्जमबर्ग ने मुझे अपनी भाषा का कौशल दिया। मैं धाराप्रवाह छह भाषाएं बोलती हूं, जिसमें जर्मन, फ्रेंच, स्पैनिश, लक्जमबर्ग, अंग्रेजी और हिंदी शामिल हैं।

ADVERTISEMENT

निहारिका ने कहा, भारत ने पूरी तरह से मेरा नजरिया बदल दिया है। भारत ने मेरे मन को शांत किया। लक्जमबर्ग ने मुझे विविधता सिखाई और भारत ने मुझे धैर्य सिखाया।

निहारिका रायजादा इस समय लक्जमबर्ग में हैं। वह बॉलीवुड में अपना प्रोजेक्ट पूरा करने के बाद अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा बाजार की खोज कर रही हैं।

उन्होंने बॉलीवुड की दुनिया को काफी साहसिक बताया। निहारिका ने कहा, मेरी अगली फिल्म सूर्यवंशी ने निश्चित रूप से भारत के लिए मेरी यात्रा को बहुत ही उपयोगी और मजेदार बना दिया है। इस साल मुझे मार्च में लक्जमबर्ग फिल्म महोत्सव में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था और तभी से मैं लक्जमबर्ग में रुकी हूं। कोविड -19 के कारण मेरा जीवन बदल गया है।

निहारिका ने बताया कि उन्होंने हाल ही में रूथ ओल्सेन द्वारा निर्देशित जर्मन फिल्म हिमबेरिन मिट सेनफ की शूटिंग पूरी कर ली है।

निहारिका ने कहा कि उनका सपना है कि वह हर उस भाषा में फिल्म जरूर करें, जो वह बोल सकती हैं।

Disclaimer: This story is auto-generated from IANS service.

ADVERTISEMENT