सेंट्रल स्कूलों में शिक्षकों की कमी: जावड़ेकर

सेंट्रल स्कूलों में शिक्षकों की कमी: जावड़ेकर
Click for full image

नई दिल्ली: मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सेंट्रल स्कूलों में शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए रिक्त पदों को पर करने का काम शुरू कर दिया गया है और नए केंद्रीय विद्यालय खोलने के धरती के नियमों में ढील दी गई है। जावड़ेकर ने यहां शाहदरा में सेंट्रल स्कूल की इमारत की नींव रखने के बाद कहा कि सेंट्रल स्कूलों में शिक्षकों के छह हजार पद खाली हैं और सरकार ने उन्हें भरने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

उन्होंने बताया कि सरकार ने नए केंद्रीय विद्यालय खोलने के लिए जमीन के नियमों में ढील दी है और अब छह मीटर शहरों में चार एकड़ की जगह सिर्फ ढाई एकड़ और अन्य शहरों में आठ की जगह पांच एकड़ में सेंट्रल स्कूल बन सकेंगे। उन्होंने शिक्षा के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता करने को दोहराते हुए कहा कि सरकार का लक्ष्य सबको शिक्षा अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराना है।

शिक्षा के महत्व को उजागर करते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति के लिए शिक्षा सबसे जरूरी है। शिक्षा व्यक्तित्व निर्माण में सहायक होती है और इसी से एक व्यक्ति जिम्मेदार नागरिक बनता है।

Top Stories