Thursday , December 14 2017

सेक्योरिटी हालात बड़े खिलाड़ियों की आमद में रुकावट: एहसान मानी

कराची 5 फरवरी : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को यक़ीन है कि आइन्दा माह होने वाली टी 20 सुपर लीग में आलमी क्रिकेट के कई बड़े नाम शामिल होंगे जिन में से चंद के साथ मुआहिदों के इमकानात भी हैं। ताहम आई सी सी के साबिक़ सदर एहसान मानी और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के साबिक़ चेयरमैन शहरयार ख़ान का ख़्याल है कि सेक्योरिटी ख़दशात बड़े खिलाड़ियों की पाकिस्तान आमद में रुकावट साबित होंगे।

एहसान मानी ने बर्तानवी वेबसाइट को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि सुपर लीग में पहले मकाम‌ के खिलाड़ी हिस्सा नहीं लेंगे, क्योंकि अगर हम दियानतदारी से बात करें तो यहां हालात अब भी बेहतर नहीं हैं और बाहर की दुनिया किसी एक शहर की बजाय हालात को पूरे मुल्क के तनाज़ुर में देखती है और वो सेक्योरिटी की सूरत-ए-हाल के लिए अपने ममालिक के सिफ़ारत ख़ानों या हाई कमीशन से रहनुमाई लेती है जिन की सफ़री हिदायात वाज़ह हैं कि इंतिहाई ज़रूरी काम के सेवा पाकिस्तान का सफ़र ना करें।

इन हालात में किसी भी टीम का आइन्दा दो साल तक पाकिस्तान आने का इमकान नज़र नहीं आता। उन्होंने कहा कि सुपर लीग से पाकिस्तान में गैर मुल्की क्रिकेट की वापसी की फ़ौरी उमीद ना रखी जाये, क्योंकि यक़ीन नहीं कि बड़े क्रिकेटरस इस में हिस्सा ले सकेंगे।

सबकदोश और कम शौहरत के हामिल क्रिकेटरस ज़रूर आयेंगे और ये हो सकता है कि इन क्रिकेटरस के ज़रीये ये पैग़ाम दुनिया को मिले कि पाकिस्तान सेक्योरिटी के लिहाज़ से बहुत ख़राब मुल्क नहीं है, लेकिन इस में अभी वक़्त लगेगा। एहसान मानी ने आई सी सी के साबिक़ चीफ़ एगज़ैक्टिव हारून लोगारट की सुपर लीग से लगाव के बारे में कहा कि उन की वो हैसियत नहीं है कि जो वो कहें, लोग उनकी बात पर यक़ीन करले।

वो काबिल शख़्स हैं, क्रिकेट को समझते हैं, पाकिस्तान के हालात से बाख़बर हैं, लेकिन लोग उन से ज़रूर ये सवाल करेंगे कि जब वो चीफ़ एगज़ैक्टिव थे तो पाकिस्तान से चम्पिय‌नस ट्रॉफ़ी और वर्ल्ड कप की मेज़बानी वापिस ले ली गई थी और अब वो मुख़्तलिफ़ बात कररहे हैं।

एहसान मानी ने इस बात पर सख़्त हैरत का इज़हार किया कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने क्रिकेटरस की आलमी तंज़ीम फीका को एतिमाद में लेने की ज़हमत ही नहीं की। उसे एतिमाद में लिया जाना चाहिए था और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का ये कह देना काफ़ी नहीं कि वो फीका को नहीं मानता।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के साबिक़ चेयरमैन शहरयार ख़ान ने कहा कि पाकिस्तान सेक्योरिटी की सूरत-ए-हाल बेहतर नहीं हुई है। एसे में ऑस्ट्रेलिया, जनूबी अफ़्रीक़ा और दूसरे क्रिकेट बोर्डस अपने अहम खिलाड़ियों को सुपर लीग में शिरकत की इजाज़त नहीं देंगे।

TOPPOPULARRECENT