सेनानियों के मदद के लिए स्थानीय लोगों पर दबाव: सीआरपीएफ

सेनानियों के मदद के लिए स्थानीय लोगों पर दबाव: सीआरपीएफ
Click for full image

श्रीनगर: सीआरपीएफ ने आज कहा कि कश्मीर के कुछ क्षेत्रों में स्थानीय लोगों पर उग्रवादियों का दबाव है कि भागने में उनकी मदद करें, जो आतंकवाद ऑपरेशंस को नुकसान पहुंच रहा है। सीआरपीएफ महानिरीक्षक (ऑपरेशंस) जुल्फिकार हसन ने दावा किया कि बलों भीड़ क्षेत्रों में धैर्य के साथ काम कर रही हैं ताकि किसी भी नुकसान का मुकाबला हो और स्थानीय लोगों को सेनानियों के खतरों का शिकार न होना पड़े।

उनके रिमार्कस सैन्य प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने चेतावनी दी के एक दिन बाद सामने आए हैं जिसमें उन्होंने कहा कि कश्मीर में काउंटर उग्रवाद ऑपरेशंस के दौरान सुरक्षा बलों पर हमला करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। आईजी हसन ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि हाल ऑपरेशंस में सुरक्षा बलों के जानी नुकसान भीड़ क्षेत्रों में पेश आए और बलों ने शांती से काम लेते हुए कार्रवाई की है ताकि असंबंधित लोगों को नुकसान न होने पाए लेकिन भीड़ नाकाबंदी तोड़ते हुए उग्रवादियों को भागने में मदद देती हैं। ऐसा कश्मीर के कुछ क्षेत्रों में हो रहा है और ग्रामीण और स्थानीय लोगों को सेनानियों के दबाव में ऐसा काम कर जाते हैं।

Top Stories