सेना की मुखबिरी के शक में आतंकियों ने 19 साल के लड़के का काट दिया गला

सेना की मुखबिरी के शक में आतंकियों ने 19 साल के लड़के का काट दिया गला

नई दिल्ली: सेना की मुखबिरी करने की आशंका पर आतंकी अब जम्मू-कश्मीर में नागरिकों की हत्या कर रहे हैं. लगातार दूसरी हत्या की घटना सामने आई है.जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में सेना का मुखबिर होने के नाम पर एक नागरिक की हत्या के दो दिन बाद आतंकियों ने शनिवार को शोपियां में 19 साल के शख्स का अपहरण कर उसकी भी जान ले ली. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘आतंकवादियों ने शनिवार को शोपियां जिले में आतंक की जघन्य घटना में एक नागरिक की हत्या कर दी. दिन में सैदपुरा इलाके में उनका अपहरण कर लिया गया था.” उन्होंने बताया कि दक्षिण कश्मीर के इस जिले में हरमाईं गांव के एक बगीचे से शव मिला जिसका गला कटा हुआ था. मृतक की पहचान पड़ोसी कुलगाम जिले के मंझगाम निवासी हुजैफ अशरफ (19) के तौर पर की गयी है. अधिकारी ने बताया, ‘‘हुजैफ के शव को उसके परिवार को सौंप दिया गया है.” पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने सफानगरी क्षेत्र के निवासी नदीम मंजूर का गुरुवार की रात अपहरण करने के बाद हत्या कर दी थी.

उधर, हिजबुल मुजाहिदीन ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें आतंकियों को एक युवक की हत्या करते हुए दिखाया गया है. जिसे कथित तौर पर सेना का मुखबिर बताया गया. सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में देखा जा सकता है कि आतंकी नदीम मंजूर को गोलियां मार रहे हैं. मंजूर का शव शुक्रवार सुबह मिला. दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के साफानगरी गांव के रहने वाले मंजूर का अपहरण आतंकियों ने गुरुवार रात कर लिया था. आतंकी संगठन ने हत्या की जिम्मेदारी ली है. मंजूर को मारने से पहले बनाये एक अन्य वीडियो में उसे आतंकियों की गिरफ्त में दिखाया गया है जिसमें उसे कहते सुना जा सकता है कि उसने अपने गांव में आतंकियों की मौजूदगी के बारे में सेना को बताया था. हिज्बुल के कमांडर रियाज नाइकू ने वीडियो के साथ एक आ़डियो मैसेज भी जारी किया है. इसमें उसने कहा है कि मंजूर सेना का मुखबिर था.

Top Stories