Sunday , November 19 2017
Home / India / सेना प्रमुख ने युद्ध के लिए चेताया

सेना प्रमुख ने युद्ध के लिए चेताया

भारतीय थल सेना के प्रमुख बिपिन रावत ने बुधवार (छह सितंबर) को चीन और पाकिस्तान के साथ एक साथ दो मोर्चों पर युद्ध की आशंका को पूरी तरह खारिज नहीं किया। बिपिन रावत ने नई दिल्ली में एक सेमिनार में बोलते हुए कहा, “युद्ध एक हकीकत है।”

रावत ने आगे कहा कि ये एक “मिथक” है कि “लोकतांत्रिक देश या परमाणु क्षमता संपन्न देश” युद्ध नहीं करते। बिपिन रावत ने कहा कि पाकिस्तान भारत को अपना सबसे बड़ा दुश्मन मानता है और वो भारत से छद्म युद्ध छेड़े हुए है। थल सेना प्रमुख ने कहा कि “पाकिस्तान से मतभेद खत्म नहीं होने वाले हैं।” भूटान की डोकलाम घाटी में भारत और चीन के बीच हुी तनात

नी की तरफ इशारा करते हुए बिपिन रावत ने कहा कि चीन ने आँखें दिखानी शुरू कर दी हैं। रावत ने डोकलाम जैसी और घटनाएं होने की आशंका से इनकार नहीं किया।

बिपिन रावत के अनुसार चीन भारतीय इलाके में घुसपैठ की और कोशिशें कर सकता है। सैन्य प्रमुख रावत ने कहा कि चीन थोड़ी-थोड़ी जमीन कब्जा करने की कोशिश करके हमारी “बर्दाश्त करने की क्षमता नाप” रहा है।

रावत ने कहा कि भारत को इसके लिए तैयार रहना होगा। रावत के अनुसार मौजूदा हालत के मद्देनजर संभव है कि जब भारत चीन से उलझा होगा तो पाकिस्तान इसका “फायदा” उठा सकता है।

बिपिन रावत ने कहा कि भारत को उत्तरी और पश्चिमी सीमा पर संघर्ष के लिए एक साथ तैयार रहना चाहिए। सेना प्रमुख का कहना था, ‘‘परमाणु हथियार प्रतिरोध के हथियार हैं। हां, वे प्रतिरोध के हथियार हैं । लेकिन यह कहना कि वे युद्ध रोक देंगे या वे देशों को लड़ने नहीं देंगे, हमारे संदर्भ में सही नहीं हो सकता।  ’’

 

TOPPOPULARRECENT