Thursday , December 14 2017

सैयाहों और फ़िज़ाई मुसाफ़िरीन की आमदो रफ़्त में कमी

रियासत की तक़सीम से मुताल्लिक़ तात्तुल के सबब हैदराबाद में सैयाहों की आमद के इलावा फ़िज़ाई मुसाफ़िरीन की तादाद में काफ़ी कमी वाक़े हुई है। शम्साबाद एयरपोर्ट इंतेज़ामीया के ज़राए के बामूजिब एयरपोर्ट पर मुसाफ़िरीन की आमद में रिकार्ड कमी

रियासत की तक़सीम से मुताल्लिक़ तात्तुल के सबब हैदराबाद में सैयाहों की आमद के इलावा फ़िज़ाई मुसाफ़िरीन की तादाद में काफ़ी कमी वाक़े हुई है। शम्साबाद एयरपोर्ट इंतेज़ामीया के ज़राए के बामूजिब एयरपोर्ट पर मुसाफ़िरीन की आमद में रिकार्ड कमी दर्ज की जा रही है और इस सूरते हाल की वजूहात का जायज़ा लिया जा रहा है।

एयरपोर्ट ज़राए के बामूजिब गुज़िश्ता तीन माह के दौरान फ़िज़ाई मुसाफ़िरीन की तादाद में बतदरीज कमी वाक़े हुई है जोकि एयर लाईन्ज़ के इलावा एयरपोर्ट इंतेज़ामीया की जानिब से शिद्दत से महसूस की जा रही है।

बताया जाता है कि जी एम आर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के ज़रीए अंदरून मुल्क रवाना होने वाले मुसाफ़िरीन की तादाद में कोई ख़ातिर ख़्वाह तबदीली नहीं आई है लेकिन बैरून मुल्क सफ़र करने वालों की तादाद में ज़बरदस्त गिरावट रिकार्ड की जा रही है। इसी तरह अंदरून मुल्क फ़िज़ाई सफ़र के ज़रीए हैदराबाद पहूंचने वालों की तादाद में भी कमी वाक़े हुई है।

एक एयर लाईन्ज़ से ताल्लुक़ रखने वाले ओहदेदार ने बताया कि जी एम आर एयरपोर्ट के मुसाफ़िरीन को दर्पेश चैलेन्जेस में सब से बड़ा चैलेंज शहर हैदराबाद से दीगर इलाक़ों को मुंतक़ली था इसी लिए गुज़िश्ता दो माह के दौरान हैदराबाद से सीमा आंध्र अज़ला का सफ़र करने वाले मुसाफ़िरीन ने फ़िज़ाई सफ़र के लिए हैदराबाद को तर्जीह नहीं दी बल्कि वो बज़रीए बैंगलौर और दीगर एयरपोर्ट्स के सीमा आंध्र अज़ला पहूंच रहे थे।

TOPPOPULARRECENT