Monday , June 25 2018

सोनिया गांधी के ख़ुदा से मदद तलब करने पर मोदी को एतराज़

नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी की जानिब से मुल्क को मोदी के नमूने से बचाने ख़ुदा से मदद तलब करने और दुआ करने का मज़ाक़ उड़ाते हुए कहा कि इस से ज़ाहिर होता है कि उन्हें कितना बड़ा मसला दरपेश है। अपनी तक़रीरों में उन्होंने कभी ख़ुदा का हवाला

नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी की जानिब से मुल्क को मोदी के नमूने से बचाने ख़ुदा से मदद तलब करने और दुआ करने का मज़ाक़ उड़ाते हुए कहा कि इस से ज़ाहिर होता है कि उन्हें कितना बड़ा मसला दरपेश है। अपनी तक़रीरों में उन्होंने कभी ख़ुदा का हवाला नहीं दिया था।

एक जल्सा-ए-आम से ख़िताब करते हुए मोदी ने कहा कि सोनिया गांधी बरसर-ए-आम तक़रीरों में अक्सर ख़ुदा को याद करती हैं। इस से ज़ाहिर होता है कि उन्हें माँ – बेटा हुकूमत के जाने पर फ़िक्र होगई है।

कांग्रेस की विकटें गिर रही हैं। उन्होंने गुज़िश्ता 20 ता 25 साल में कभी भी सोनिया गांधी को ख़ुदा से मदद तलब करते नहीं सुना है। चाहे कांग्रेस को कैसी भी मुश्किल का सामना क्यों ना रहा हो। लेकिन अब उन्हें यक़ीन होगया है कि माँ – बेटा हुकूमत दुबारा बरसर-ए-इक़्तेदार नहीं आएगी।

इस लिए वो ख़ुदा को पुकार रही हैं। सोनिया गांधी ने एक आम जलसे में इंतेबाह दिया था कि मोदी की ज़ेर-ए-क़ियादत बी जे पी का एजंडा इंतिशार है। उन्होंने कहा था कि ख़ुदा मुल्क को उनके बरसर-ए-इक़्तेदार आने से बचाए। कांग्रेस के सेकुलरिज्म को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए मोदी ने कहा कि सेकुलरिज्म उनका सिर्फ़ इंतेख़ाबी मौज़ू है।

वो अवाम की ख़ुशहाली के लिए इंतेख़ाबी जंग कररहे हैं। जबकि वो ख़ुद अपनी ख़ुशहाली के लिए ऐसा कररहे हैं। कांग्रेस ने मुल्क को अस्क़ामस की सरज़मीन बनादिया है। आज दुनिया हिन्दुस्तान को अस्क़ाम इंडिया के नाम से पुकार रही है।

TOPPOPULARRECENT