Monday , January 22 2018

सोनीया गांधी और शिंदे का दौरा-ए-बोध गया

3 ता 4 अफ़राद बम धमाकों में मुलव्विस, मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे का बयान

3 ता 4 अफ़राद बम धमाकों में मुलव्विस, मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे का बयान
पटना 11 जुलाई (एजैंसीज़ पी टी आई) बिहार की नितीश कुमार हुकूमत की जानिब से बोध गया के सिलसिला वार बम धमाकों का मुक़द्दमा तहक़ीक़ात के लिए क़ौमी तहक़ीक़ाती महिकमा (एन आई ए) के सपुर्द करने के बाद सदर कांग्रेस सोनीया गांधी और मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शंडे आज बोध गया का दौरा कररहे हैं।

इत्तिलाआत के बमूजब शिंदे और सोनीया गांधी को सिलसिलावार बम धमाकों के बारे में ताज़ा तरीन तफ़सीलात से और वाक़िया की तहक़ीक़ात करने वाले महिकमों की पेशरफ़त के बारे में तफ़सीलात से वाक़िफ़ करवाया जाएगा।

शिंदे के हमराह मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला के आला ओहदेदार भी हैं। वो तहक़ीक़ाती महिकमों के ओहदेदारों से बोध गया के दौरे के मौक़े पर मुलाक़ात करेंगे।

पुलिस के एक आला सतही ओहदेदार ने उनकी आमद से क़बल एक प्रैस कान्फ़्रैंस में कहा कि शहरा आफ़ाक़ महाबोधि मंदिर का किसी मर्कज़ी वज़ीर की जानिब से ये पहला दौरा होगा। ये मंदिर इतवार के दिन सिलसिलावार बम धमाकों से दहल गया था।

सदर बी जे पी राजनाथ सिंह, पार्टी के सीनीयर क़ाइदीन अरूण जेटली और रवी शंकर प्रसाद के साथ कल बोध गया का दौरा करचुके हैं। बोध गया मंदिर यूनेस्को के आलमी तहज़ीबी विरसा के मुक़ामों की फ़हरिस्त में शामिल है।

महात्मा गौतमबुद्ध जो पड़ोसी मुल्क नेपाल में पैदा हुए थे, ढाई हज़ार साल क़बल ईसी मुक़ाम पर उन्हें निर्वाण हासिल हुआ था। बोध गया से पी टी आई की इत्तेला के बमूजब मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे ने आज हमले में 3 ता 4 अफ़राद के मुलव्विस होने के इमकान को मुस्तर्द कर दिया और कहा कि एन आई ए की तहक़ीक़ात से इसका इन्किशाफ़ हुआ है।

सुशील कुमार शंडे ने जो बम धमाके के मुक़ाम का सदर कांग्रेस सोनीया गांधी और पार्टी क़ाइद अम्बीका सोनी के साथ मुक़ाम वारदात का दौरे करचुके हैं, कहा कि वो गौतमबुद्ध की सरज़मीन पर ऐसे धमाकों की मज़म्मत करते हैं।

बोध गया एक पुरअमन सरज़मीन है और यहां पर बम धमाके संगीन हैसियत रखते हैं। उन्होंने कहा कि तहक़ीक़ात के लिए 2 बड़ी टीमें आला सतही तहक़ीक़ाती महिकमों की जानिब से मुक़र्रर की गई हैं जो सी बी आई के हम पिला हैं।

खासतौर पर हम दहश्तगरदों के मसले का जायज़ा ले रहे हैं। तहक़ीक़ात का आग़ाज़ होचुका है, कई अफ़राद से पूछताछ की जा चुकी है। मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला ने कहा कि मर्कज़ ने मुकम्मल तहक़ीक़ात एन आई ए के सपुर्द करदी हैं जबकि हुकूमत बिहार ने इस सिलसिले में दरख़ास्त की थी।

तमाम मुक़ामात का हम दौरा करचुके हैं। 13 बमों में से 10 बम फट पड़े थे। 2 ता 3 किलोग्राम के छोटे सिलेंडरों में केले और बाल बैरंग भर कर उन्हें डेटोनेटर्स से मरबूत किया गया था।

TOPPOPULARRECENT