Sunday , November 19 2017
Home / Social Media / सोशल नेटवर्क में ओबामा और मोदी हैं सबसे ज़्यादा पॉपुलर

सोशल नेटवर्क में ओबामा और मोदी हैं सबसे ज़्यादा पॉपुलर

आम तौर पर लोग सोचते हैं कि शकीरा, बेयोंसे, टेलर स्विफ्ट या किम कर्दाशियां, या फिर देशी स्टार जैसे अमिताभ बच्चन या शाहरुख़-सलमान सोशल नेटवर्क पर सबसे ज़्यादा लोकप्रिय हैं. आज की तारीख़ में दुनिया के कई बड़े नेता सोशल नेटवर्क की दुनिया में छाए हुए हैं. इनमें अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से लेकर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक शामिल हैं. कुछ और नेता, जो सोशल मीडिया पर बहुत एक्टिव और लोकप्रिय हैं, उनमें तुर्की और इंडोनेशिया के पीएम भी शामिल हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों के उम्मीदवार डोनल्ड ट्रम्प को ही लीजिए. उन्होंने जमकर ऑनलाइन प्रचार किया. उन्हें ख़ूब चर्चा मिली. उनके ट्वीट लगातार रिट्वीट हो रहे हैं. उनके फ़ॉलोअर्स की तादाद दिनों-दिन बढ़ती जा रही है. सोशल मीडिया पर अपनी सक्रियता के चलते ही आज वो सुर्ख़ियों में छाए हैं. सबसे दिलचस्प बात ये है कि उन्होंने ये काम बहुत कम पैसे में करके दिखाया है. जहाँ उनकी पार्टी के दूसरे नेताओं जैसे टेड क्रूज़ और जेब बुश ने प्रचार के लिए कई करोड़ डॉलर ख़र्च किए. वहीं ख़ुद ट्रम्प ने महज़ एक करोड़ डॉलर में सबसे ज़्यादा शोहरत हासिल कर ली.

बराक ओबामा सोशल मीडिया टीम की कामयाबी की सबसे बड़ी मिसाल हैं. वो बहुत सारे वीडियो अपने पेज पर डालते हैं. अपनी ज़िंदगी की तमाम कहानियाँ साझा करते हैं, लेकिन वो रोज़ाना कोई पोस्ट नहीं डालते. जब कोई अहम बात कहनी होती है, तभी वो फ़ेसबुक पेज पर कुछ लिखते हैं.
ओबामा, अक्सर पत्नी मिशेल और बेटियों के साथ छुट्टी की तस्वीरें या क़िस्से साझा करते हैं. इसी वजह से आम लोग उनसे जुड़ाव महसूस करते हैं. इन्हीं पर ज़्यादा लोग दिलचस्पी लेते हैं और उनसे बातें करते हैं. इनका मक़सद एक सियासी कहानी कहना होता है.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जिन्होंने 2014 के आम चुनावों से पहले ही सोशल मीडिया पर अपनी सक्रियता काफ़ी बढ़ा दी थी. प्रधानमंत्री बनने के बाद भी वो तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बेहद सक्रिय हैं. दुनिया के कई और नेताओं ने भी यू-ट्यूब से लेकर फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और स्नैपचैट जैसे सोशल नेटवर्किंग साइट्स की मदद से शोहरत बटोरी है. कई नेता तो नियमित रूप से अपने फ़ॉलोअर्स के साथ चैट करते हैं, उनके सवालों के जवाब देते हैं. इस मामले में भी ओबामा नंबर वन हैं. 

अर्जेंटीना के नए राष्ट्रपति मॉरिसियो मैक्री, स्नैपचैट की दुनिया के बेताज बादशाह हैं. वो राष्ट्रपति के तौर पर अपने पूरे दिन ब्यौरा अपने फ़ॉलोअर्स से साझा करते हैं. वो बातें भी जो मीडिया की नज़र में नहीं होतीं. हालाँकि बहुत से नेताओं को नहीं पता कि स्नैपचैट का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं. अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मैक्री, फ़ेसबुक पर भी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हैं. उनके चालीस लाख़ फ़ैन हैं. उनकी किसी भी पोस्ट को पचास से सत्तर हज़ार तक लाइक मिल जाते हैं. अर्जेंटीना के टैंगो संगीतकार मारियानो मोरेस की मौत पर उनकी पोस्ट को पांच लाख़ से ज़्यादा लोगों ने लाइक किया था. वैसे लोकप्रियता को देखते हुए, फ़ेसबुक का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल नेता कर रहे हैं. यहाँ तक कि तानाशाही राज चलाने वाले नेता भी. जैसे कि कम्बोडिया के तानाशाह हुन सेन, जो फ़ेसबुक पर लोकप्रियता के मामले में नंबर दो माने जाते हैं. हुन सेन फ़ेसबुक पर अक्सर समंदर किनारे कभी बाथरोब में तो कभी अपने पोते-पोतियों के साथ खेलते हुए तस्वीरें साझा करते हैं.

तो, ओबामा हों या मोदी या सिएन लूंग, हर नेता आज आम लोगों से जुड़ने के लिए सोशल नेटवर्किंग की मदद ले रहा है. इनमें से कुछ बादशाह साबित हुए हैं, तो कुछ की कोशिशें नाकाम भी रही हैं.

TOPPOPULARRECENT