Tuesday , January 23 2018

सोशल मीडिया पर नजर रखेगी झारखंड पुलिस

रांची : सोशल मीडिया पर जारी इत्तिलात पर नजर रखने और जानकारी को इकठ्ठा करने के लिए स्पेशल ब्रांच आसमा सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करेगी। स्पेशल ब्रांच के डाटा सेंटर में यह सॉफ्टवेयर दिल्ली ट्रिपल आइटी के डॉक्टर पोनुरंगम कुमारगुरु की मदद से बनाया गया है। अगले एक माह तक इसका इस्तेमाल ट्रायल के तौर पर किया जायेगा। कामयाबी मिलने पर इसका इस्तेमाल आगे किया जायेगा। यह जानकारी जुमेरात को एडीजी स्पेशल ब्रांच अनुराग गुप्ता ने दी।

उन्होंने बताया कि अगर नक्सली सोशल मीडिया के जरिये कोई गलत तशहीर करते हैं या किसी सख्श की तरफ से गलत काम के लिए भीड़ को इकठ्ठा करने की तैयारी की जारी है, तब इस सॉफ्टवेयर के जरिये उस सख्श के बारे में पूरी जानकारी मिल जायेगी। पुलिस के पास यह भी जानकारी होगी कि सोशल मीडिया का इस्तेमाल मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर के जरिये किया गया है। मुतल्लिक़ सख्श ने किस फोन का इस्तेमाल किया है। इत्तिला मिलने से मुतल्लिक़ सख्श पर कार्रवाई में असानी होगी। एडीजी ने बताया कि सॉफ्टवेयर भारत सरकार की तरफ से डॉक्टर पोनुरंगम कुमारगुरु ने तैयार किया है। इसलिए उन्होंने इस सॉफ्टवेयर को पुलिस हेड क्वार्टर को देने के लिए रुपये नहीं लिये हैं।

इससे पहले पुलिस हेड क्वार्टर अहाते में डाटा सेंटर के हॉल में डीजीपी डीके पांडेय समेत पुलिस हेड क्वार्टर के दीगर अफसरों को डॉ पोनुरंगम कुमारगुरु ने आसमा सॉफ्टवेयर की इस्तेमाल के बारे में तौसिह जानकारी दी। सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है, इसके बारे में भी बताया गया। उन्होंने पुलिस अफसरों को बताया कि वे इससे पहले मुल्क के 31 पुलिस तंजीम के दरमियान सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी दे चुके हैं। प्रोग्राम में पुलिस हेड क्वार्टर के तमाम एडीजी, आइजी समेत दीगर पुलिस अफसर मौजूद थे।

 

TOPPOPULARRECENT