Saturday , December 16 2017

स्कूली बच्चों की हलाकत पर अमेरीका सोगवार

वाशिंगटन, 16 दिसंबर: ( एजेंसी ) सदर अमेरीका बराक ओबामा जो ख़ुद भी दो बेटियों के बाप हैं , ने अपने आँसू पोंछते हुए कहा कि आज हमारे दिल पाश पाश हो गए क्योंकि हमें एक ऐसे उल-मनाक वाक़िया की ख़बर समाअत करनी पड़ी जिसके लिए हमारा दिल हमारी अक़ल हैर

वाशिंगटन, 16 दिसंबर: ( एजेंसी ) सदर अमेरीका बराक ओबामा जो ख़ुद भी दो बेटियों के बाप हैं , ने अपने आँसू पोंछते हुए कहा कि आज हमारे दिल पाश पाश हो गए क्योंकि हमें एक ऐसे उल-मनाक वाक़िया की ख़बर समाअत करनी पड़ी जिसके लिए हमारा दिल हमारी अक़ल हैरत अंगेज़ तौर पर सदमा से दो-चार है ।

उन्होंने अमेरीकी पर्चम 18 दिसंबर तक सरनि‍गूं रखने का भी ऐलान किया । आज अमेरीका इन तमाम 28 महलोकेन का सोग तहा दिल से मना रहा है । वाक़ियात पर अफ़सोस का इज़हार करना अपनी जगह लेकिन ये मालूम करना भी ज़रूरत है कि आख़िर इस जुनूनी को किन हालात ने मजबूर किया कि इसने 28 अफ़राद की जान ले ली ।

सेंडी हूक एलिमेंट्री स्कूल के तमाम महलूक तलबा की उम्र 5 ता 10 साल के दरमियान थीं। जिन बालिग़ अफ़राद का क़त्ल हुआ है इन में स्कूल के प्रिंसिपल डॉन होशसपरनग और स्कूल की माहिर नफ़सियात मेरी शेरलाक शामिल हैं। ला इंफोर्समेंट के ओहदेदारों ने हमलावर की 20 साला आडम् लानज़ा की हैसियत से शनाख़्त की है जिसने फायरिंग के बाद ख़ुदकुशी कर ली थी ।

दऱी असना न्यूजर्सी में पुलिस ओहदेदारान क़ातिल के भाई रयान लानज़ा से पूछगिछ कर रहे हैं। इस तरह कनेक्टीकट में रिहायश पज़ीर क़ातिल के वालिद से भी पूछगिछ जा रही है । महलोकेन में दो हिंदूस्तानी भी शामिल हैं जबकि मजमूई तौर पर महलोकेन में बच्चों की तादाद ज़्यादा है।

गोली लगने के बाद जो जहां गिरा था , उनकी नाशों को हनूज़ इसी मुक़ाम पर रखा गया है ताकि शनाख़्त में आसानी हो । शनाख़्त के अमल की तकमील के बाद ही नाशों का पोस्टमार्टम करके उन्हें विरसा के हवाले किया जाएगा ।

TOPPOPULARRECENT