Friday , November 24 2017
Home / Uttar Pradesh / स्कूल में बच्चों को पिलाई जाती है शराब और दिखाई जाती है फहस फिल्म

स्कूल में बच्चों को पिलाई जाती है शराब और दिखाई जाती है फहस फिल्म

जनजातीय रिहाईशि स्कूल, कुदरुम में बच्चों को शराब पिलाई जाती है। उन्हें फहस फिल्म भी दिखाई जाती है। इल्ज़ाम है कि यह काम स्कूल का चपरासी गनौरी महतो करता है, जो हॉस्टल सुप्रीटेंडेंट के इंचार्ज में था। मामले का खुलासा होने के बाद जिला

जनजातीय रिहाईशि स्कूल, कुदरुम में बच्चों को शराब पिलाई जाती है। उन्हें फहस फिल्म भी दिखाई जाती है। इल्ज़ाम है कि यह काम स्कूल का चपरासी गनौरी महतो करता है, जो हॉस्टल सुप्रीटेंडेंट के इंचार्ज में था। मामले का खुलासा होने के बाद जिला बोहबुद ओहदेदार ने जब गनौरी महतो के खिलाफ कार्रवाई शुरू की तो स्कूल के तालिबे इल्म ने हंगामा कर दिया। असातिज़ा को भी यरगमाल बनाया। बाद में सीनियर अफसरों के मुदाख्लत से मामला सुलझा और बच्चों को बांड लिखवाने के बाद छोड़ा गया।

उधर, स्कूल के प्रिन्सिपल गणेश सिंह मुंडा ने कहा कि गनौरी पर इल्ज़ाम लगाना गलत है। वह सबसे छोटा मुलाज़िम है, इसलिए लोग उसे फंसा रहे हैं। मुंडा ने कहा कि यहां के बच्चे शराब पीकर ही पैदा हुए हैं। यहां कौन शराब नहीं पीता। स्कूल के दो लोगों को छोड़कर यहां तमाम शराब पीते हैं। चाहे वह तालिबे इल्म हो या असातिज़ा ।

बच्चे ने कहा चपरासी ही पिलाते हैं शराब

स्कूल के ज़्यादातर बच्चों ने इसके लिए चपरासी गनौरी को ही जिम्मेदार ठहराया। बच्चों ने कहा कि गनौरी महतो ही उन्हें शराब पिलाते हैं और फहस फिल्म दिखाते हैं।

इस मामले का खुलासा पीयूसीएल की टीम ने किया है। पीयूसीएल के ओहदेदार सुरेश मानस, उगेंद्रनाथ चौबे, अवध किशोर चौबे, विनोद अग्रवाल व एसएन पाठक ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि बच्चों ने असातिज़ा पर खाना नहीं देने का इल्ज़ाम लगाया था। जबकि बच्चों पर हॉस्टल के सुप्रीटेंडेंट समेत दीगर असातिज़ा को यरगमाल बनाने का इल्ज़ाम था। इस मामले की जांच के लिए जब टीम स्कूल पहुंची तो वहां हालत काफी खराब थी। जांच में पता चला कि बच्चों को स्कूल में शराब पिलाई जाती है और फहस फिल्में दिखाई जाती हैं। जब जिला बोहबुद ओहदेदार जनार्दन राम से जानकारी मांगी तो उन्होंने कहा कि हॉस्टल का इंचार्ज चपरासी को दे दिया गया था। अब वे हुकूमत को रिपोर्ट भेजेंगे।

मुझे मोहरा बनाया जा रहा है : गनौरी

गनौरी महतो ने इन इल्ज़ामात को पूरी तरह बेबुनियाद बताया है। गनौरी ने कहा कि वह इस मामले में पूरी तरह बेगुनाह है। उसे बेवजह मोहरा बनाया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT