Monday , December 11 2017

स्कोलरशिप्स तारीख़ में तौसीअ (एक्सटेंसन) का मुतालिबा : फ़ारूक़ हुसैन

कांग्रेस के रुक्न क़ानूनसाज़ कौंसिल मिस्टर मुहम्मद फ़ारूक़ हुसैन ने मर्कज़ी (केन्द्रीय) वज़ीर-ए-क़लीयती उमूर (माइनोरिटी मिनिस्टर) मिस्टर सलमान ख़ुरशीद को मकतूब (रिपोर्ट ) रवाना करते हुए मर्कज़ी (केन्द्रीय) स्कोलरशिप्स के फॉर्म्स दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़ में मज़ीद (और) 15 दिन तक तौसीअ (एक्सटेंसन) देते हुए 30 जुलाई मुक़र्रर करने की अपील की।

उन्हों ने अपने मकतूब (रिपोर्ट ) में बताया कि अक़लीयती तलबा (स्टुडेंट्स) के लिए मर्कज़ी (केन्द्रीय) स्कोलरशिप्स हासिल करने की आख़िरी तारीख़ 15 जुलाई मुक़र्रर है जबकि रियासत में अक़लीयती बिलख़सूस मुस्लिम तलबा (स्टुडेंट्स) को तहसील ऑफ़िस से इनकम सर्टीफ़िकेट हासिल करने और बैंक खाते खुलवाने में कई दुश्वारियां पेश आ रही हैं।

लिहाज़ा मर्कज़ी (केन्द्रीय) हुकूमत (केंद्र सरकर) स्कोलरशिप्स के लिए फॉर्म्स दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़ में मज़ीद (और) 15 दिन की तौसीअ (एक्सटेंसन) दें। कांग्रेस के एम एल सी ने बज़रीया फैक्स इन मसाइल को सलमान ख़ुरशीद से वाक़िफ़ कराया है। उन्हों ने मकतूब (रिपोर्ट ) में लिखा है कि अगर फ़ार्म दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़ में तौसीअ (एक्सटेंसन) नहीं की गई तो अक़ल्लीयतों के लिए स्कालरशिपस का जो मुख़तस (आवंटित) बजट है वो सरकारी खज़ाने में वापिस चले जाने के ख़दशात हैं। इस से ग़रीब अक़लीयती तलबा (स्टुडेंट्स) का नुक़्सान है ।

उन्हों ने इस सिलसिले में रियास्ती वज़ीर-ए-क़लीयती बहबूद मिस्टर मुहम्मद अहमद उल्लाह से भी टेलीफ़ोन पर बात-चीत करते हुए उन्हें भी मर्कज़ी (केन्द्रीय) वज़ीर सलमान ख़ान से बातचीत करने का मश्वरा दिया है।

वज़ीर-ए-अक़लीयती बहबूद ने फ़ारूक़ हुसैन को तैक़ुन दिया कि वो इस सिलसिले में ना सिर्फ मर्कज़ी (केन्द्रीय) वज़ीर-ए-अक़लीयती उमूर (माइनोरिटी मिनिस्टर ) सलमान ख़ुरशीद को बज़रीया फैक्स मकतूब (रिपोर्ट ) रवाना करेंगे साथ ही टेलीफ़ोन पर बातचीत करते हुए फ़ार्म दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़ में तौसीअ (एक्सटेंसन) करने का मुतालिबा करेंगे

TOPPOPULARRECENT