स्टिंग ऑपरेशन का ख़ुलासा, हिंदू आतंकवादी संगठन का मक़सद मुसलमानों की बेरहमी से हत्या करना

स्टिंग ऑपरेशन का ख़ुलासा, हिंदू आतंकवादी संगठन का मक़सद मुसलमानों की बेरहमी से हत्या करना
Click for full image

एबीपी न्यूज़ के एक ऑपरेशन में शिव कुमार का गुप्त इंटरव्यू लिया गया।

जिसमें उन्होंने बताया कि, कभी वह आरएसएस से जुड़े हुए थे, लेकिन बाद में उन्होंने खुद के एक संगठन की स्थापना की, जिसका नाम श्री कृष्ण सेना संगठन रखा गया। इस इंटरव्यू के दौरान उन्होंने इस बात को कबूल किया कि, वह हिन्दू आतंकवादी संगठन चलाते है और इस संगठन का मकसद मुसलमानों को मारना है। शिव कुमार जो कि, हिन्दू आतंकवादी संगठन चलाते थे और इस संगठन का मकसद मुसलमानों की बेरहमी से हत्या करना और उनकी मस्जिदों पर बम फेंकना था।

इन बातों का खुलासा शिव कुमार के एक स्टिंग ऑपरेशन में हुआ और उन्होंने इस बात को कबूल किया कि, उनका मकसद ‘मुसलमानों की हत्या करना, मस्जिदों पर बम फेंकना था और इसके अलावा साथ में जब यह मस्जिदों पर बम फेंकते थे तो, इस बात की जिम्मेदारी भी लेते थे कि, यह काम उन्होंने ही किया है।’ शिव कुमार ने बताया कि, ‘वर्ष 1996 से 1998 की बात है जब हम रातों में निकलते थे तो मुसलमानों को मारने के लिए निकलते थे, अगर कोई मारा न जाता और खाली हाथ वापस आता तो, अजीब सा महसूस होता था कि, जैसे की कुछ हुआ ही नहीं हो।

लेकिन अगर किसी दिन किसी मुसलमान को मार दिया तो, उस दिन तो जश्न मनाया जाता था। लेकिन अगर किसी मौलवी की हत्या कर देते तो ऐसा महसूस होता कि, जैसे की पैर ही जमीन पर न टिक रहे हो।’ इसके अलावा शिव कुमार ने यह भी बताया कि, उनका शुरू से ही सपना रहा है कि, पुलिस उन्हें पकड़े और जेल ले जाये।

Top Stories