Friday , September 21 2018

स्नेक गैंग केस:इन्सपेक्टर-ओ-सब इन्सपेक्टर मुअत्तल

पहाड़ीशरीफ़ हुदूद के सनसनीखेज़ स्नेक गैंग मुआमले में लापरवाही पुलिस ओहदेदारों के लिए महंगी साबित हुई।

पहाड़ीशरीफ़ हुदूद के सनसनीखेज़ स्नेक गैंग मुआमले में लापरवाही पुलिस ओहदेदारों के लिए महंगी साबित हुई।

कमिशनर पुलिस ने शिकायत हासिल होने के बाद कार्रवाई में ताख़ीर और टाल मटोल का सख़्त नोट लेते हुए उस वक़्त के इन्सपेक्टर और सब इन्सपेक्टर दोनों को मुअत्तल कर दिया।

याद रहे कि चंद रोज़ पहले ही उस वक़्त के इन्सपेक्टर पहाड़ीशरीफ़ भास्कर रेड्डी और सब इन्सपेक्टर वीरा प्रसाद को ख़िदमात से मुअत्तल करते हुए अहकामात जारी करदिए। इन दोनों ओहदेदारों पर लापरवाही के इल्ज़ामात थे।

स्नेक गैंग के बेनकाब होने के बाद पुलिस ये कहते रही थी कि इस बदनाम ज़माना टोली के ख़िलाफ़ शिकायत की कोई मज़लूम हिम्मत नहीं करता और मुतास्सिर ज़ुलम सहते हुए मसला पुलिस से रुजू करने में ख़ौफ़ का शिकार थे ताहम जब शिकायत की गई तब ख़ुद पुलिस के ज़िम्मेदारी अफ़्सर लापरवाही का मुज़ाहरा करने लगे एसे में अवामी एतिमाद को बहाल करने और पुलिस के किरदार को बेहतर बनाने के लिए कमिशनर ने समझा जा रहा हैके इस तरह का इक़दाम किया और दोनों ओहदेदारों को मुअत्तल कर दिया। कमिशनर पुलिस साइबराबाद के इस इक़दाम से कमिशनरेएट के दूसरे ओहदेदार भी चौकस होगए हैं।

TOPPOPULARRECENT