Thursday , September 20 2018

स्पेन की पिस्टल से हुई थी मुन्ना बजरंगी की हत्या- पुलिस

पूर्वांचल के डॉन मुन्ना बजरंगी  को मौत की नींद सुलाने के लिए विदेशी पिस्टल और विदेशी कारतूसों का प्रयोग किया गया। जेल में हुए इस हत्याकांड में स्पेन की कंपनी लामा की .32 बोर की पिस्टल बरामद हुई है। बरामद कारतूस भी विदेशी हैं। इन कारतूसों का प्रयोग पेशेवर अपराधी ही करते हैं। पिस्टल में साइलेंसर लगाने के लिए स्क्रू भी लगा हुआ है।

मुन्ना बजरंगी की हत्या में प्रयुक्त पिस्टल को बरामद करने वाले एसएसआई रजनीश कुमार के द्वारा लिखाए गए मुकदमे में कहा गया है कि 8:10 बजे गटर में घुमाई जा रही चुंबक से एक लाल रंग की पॉलिथिन चिपककर बाहर निकली थी। उसमें पिस्टल थी और उसे देखकर ही सुनील राठी ने कहा था कि यह ही वह पिस्टल है, जिससे उसने सुबह मुन्ना बजरंगी की हत्या की थी। हत्या के बाद उसे इस गटर में फेंक दिया था। इस पॉलिथिन में एक मैगजीन व 17 कारतूस भी थे और मैगजीन में भी पांच जिंदा कारतूस थे। यह पिस्टल लामा की है जो स्पेन की कंपनी है। इसकी बाजार में कीमत करीब छह लाख रुपये बताई जा रही है। इसमें साइलेंसर लगाने के लिए स्क्रू भी लगा है। जो कारतूस बरामद हुए हैं, वे भी विदेशी ही हैं।

TOPPOPULARRECENT