Tuesday , August 21 2018

स्पेशल टीईटी उर्दू में ग्रेस मिलने की राह हमवार

कारवां उर्दू के कोंवेनर प्रोफेससर गुलाम गाउस ने प्रेस बयान में कहा के स्पेशल टीईटी उर्दू के खामियाँ दूर करके ग्रेस मार्क्स देने की राह हमवार हो रही है, उम्मीद है की जल्द उर्दूदां को इंसाफ मिलेगा। उन्होने आज़ वजीरे तालीम पीके शाही

कारवां उर्दू के कोंवेनर प्रोफेससर गुलाम गाउस ने प्रेस बयान में कहा के स्पेशल टीईटी उर्दू के खामियाँ दूर करके ग्रेस मार्क्स देने की राह हमवार हो रही है, उम्मीद है की जल्द उर्दूदां को इंसाफ मिलेगा। उन्होने आज़ वजीरे तालीम पीके शाही से मुलाक़ात करके खुसुसि टीईटी के इम्तिहान देहिंदगान के साथ इंसाफ करने की वकालत की जो पहले और दूसरे पर्चे में सवाल व जवाब की गलतियों के सबब नकाम हो गए हैं। उन्होने दावा किया के पहले पर्चे में एक दर्जन और दूसरे पर्चे में दो दर्जन से ज़्यादा गलतियाँ थीं जिसके सबब उर्दू उम्मीदवारों को नुकसान उठाना पड़ा है।

उन्होने वजीरे तालीम को दोनों पर्चों की गलतियों को तहरीरी निशानदेही की जिससे वो मुत्तफ़िक़ हुये। वजीर तालीम ने गुलाम गाउस की बातों को गौर से सुना और बताया के दूसरे पर्चे के सिलसिले में उन्होने बीएसईबी को मुसबत हिदायत दे दी है ताकि उन्हें इंसाफ मिल सके। पहले पर्चे की खामियों के सिलसिले में जब कारवां उर्दू ने उनकी तवज्जो दिलाई तो उन्होने कहा के वो इसकी खामियों की तहक़ीक़ात कर रही है।

इससे कबल वजीरे आला नीतीश कुमार ने खुसुसि टीईटी उर्दू में दिलचस्पी ली और प्रोफेसर गुलाम गाउस की कियादत में एक नुमाइंदा वफ़द से मुलाकात की जिसमें डॉक्टर असलम और डॉक्टर महबूब आलम भी शामिल थे। इम्तिहान के सवालों में गलतियों के सबब तलबा के नाकाम हो जाने पर इज़हार अफसोश करते हुये उनके साथ इंसाफ करने का मुतालिबा किया। वजीरे आला ने व्फ़द की बातों को पूरी तवज्जो से सुना। उनकी हिदायत पर दूसरे दिन उर्दू के नुमाइंदों और हुकूमत के नुमाइंदों ने वजीरे तालीम पीके शाही की सरकारी दफ्तर में सवालों की तलतियों पर तफ़सीली गुफ़्तुगु की। उर्दू नुमाइंदों की बातों से वजीरे तालीम मुतफीक हुये और उन्होने तमाम गलतियों की नतीजे में हुये नुकसान की पेशे नज़र उर्दू उम्मीदवारों के साथ इंसाफ करने की वाजेह हिदायत दी।

पहले पर्चे के सिलसिले में सरकारी नुमाइंदों का कहना है के इस में गलतियाँ नहीं हैं। लेकिन प्रोफेसर गुलाम गाउस का मौकिफ है के पहले पर्चे में भी गलतियाँ हैं जिस से उर्दू उम्मीदवारों का नुकसान हुआ है इसी सिलसिले में वो आज वजीरे तालीम से मिले और उन्हें पहले पर्चे की खामियों से आगाह किया। वजीरे तालीम ने उनकी बातों की संजीदगी से सुना और यकीन दिलाया के वो पहले पर्चे की तहक़ीक़ात करवा कर इम्तिहान देहिंदगान के साथ इंसाब करेंगे।

TOPPOPULARRECENT