Thursday , February 22 2018

स्वाइन फ्लू को लेकर सेहत महकमा में हड़कंप, पटना में तीन की रिपोर्ट पॉजिटिव

पटना में तीन लोगों में स्वाइन फ्लू पाया गया है। इनमें से एक खातून व एक मर्द दिल्ली व अलीगढ़ से पटना आये थे, वहीं एक दीगर खातून मरीज पटना के अगमकुआं थाना इलाक़े में ही रहती है। इनकी जांच रिपोर्ट मंगल को राजेंद्र स्मारक चिकित्सा विज्ञ

पटना में तीन लोगों में स्वाइन फ्लू पाया गया है। इनमें से एक खातून व एक मर्द दिल्ली व अलीगढ़ से पटना आये थे, वहीं एक दीगर खातून मरीज पटना के अगमकुआं थाना इलाक़े में ही रहती है। इनकी जांच रिपोर्ट मंगल को राजेंद्र स्मारक चिकित्सा विज्ञान अनुसंधान संस्थान (आरएमआरआइ) ने सेहत महकमा को भेज दी। इसके बाद से सेहत महकमा में हड़कंप मचा हुआ है।

इसकी जानकारी मिलते ही सेहत सेक्रेटरी आनंद किशोर आरएमआरआइ पहुंचे और इसकी जानकारी ली। तीनों मरीजों में कोई भी फिलहाल किसी अस्पताल में भरती नहीं है। सेहत महकमा के ब्रजेश मेहरोत्र ने बताया कि जिन तीन लोगों में स्वाइन फ्लू की तसदीक़ हुई है, उनमें एक डॉ नीना वर्मा आरएमआरआइ की खातून मुलाज़िम हैं।

वह दिल्ली से पटना आयी थीं। फिर दिल्ली लौट गयी हैं। एक दीगर परवेज आलम अलीगढ़ से आया था। वह भी वापस अलीगढ़ चला गया है। तीसरी मरीज अंजलि पटना में ही है। एक टीम मंगल को अगमकुआं थाना इलाक़े में उसे ढूंढ़ती रही, लेकिन उसका मोबाइल नंबर दस्तयाब नहीं होने की वजह से उसका पता नहीं चल पाया। बुध को टीम फिर उसे ढूंढ़ने जायेगी।

आरएमआरआइ के डाइरेक्टर डॉ प्रदीप दास ने बताया कि लैब में 20 लोगों की जांच की गयी थी, जिनमें से तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। इधर, अगमकुआं वाकेय अस्पताल में मंगल को स्वाइन फ्लू के बीमारी के लक्षण को देखते हुए एक और मरीज का खून जांच के लिए लिया गया है.

पीएमसीएच-एनएमसीएच में बना 30-30 बेडों का वार्ड

सेहत महकमा के सेक्रेटरी आनंद किशोर व आरएमआरआइ के डाइरेक्टर डॉ प्रदीप दास का कहना है कि बीमारी की चपेट में आये मरीजों के लिए टैमी फ्लू दवा कारगर है, जिसकी कोई कमी नहीं है। पांच दिनों के कोर्स के बाद इस बीमारी से आसानी से निबटा जा सकता है। सरकार ने अस्पतालों में मुफ्त इलाज की इंतेजाम की है।

TOPPOPULARRECENT