स्वामी असीमानंद को सताने लगा है मुसलमानों का डर!

स्वामी असीमानंद को सताने लगा है मुसलमानों का डर!

स्वामी असीमानंद ने कहा है कि मुसलमान न सिर्फ भारत बल्कि पूरे विश्व के लिए समस्या हैं. स्वामी असीमानंद को अजमेर दरगाह, मक्का मस्जिद और समझौता एक्सप्रेस बम ब्लास्ट केस से बरी किया जा चुका है. मुंबई तक को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से मुसलमानों की जनसंख्या बढ़ रही है और जिस तरह से वे पूरे विश्व पर नियंत्रण कर रहे हैं.

जिस तरह से मुसलमान मानते हैं कि जो लोग कुरान में विश्वास नहीं करते उन्हें जिंदा रहने का हक नहीं है उसी तरह से यह भारत और पूरे विश्व के लिए बड़ी समस्या बन चुका है.’

उन्होंने कहा, ‘मुसलमानों की समस्या समाज में मौजूद है फिर भी मैंने कभी भी उन्हें खत्म करने की नहीं सोची. मैं यह जानकर चौंक गया था कि ब्लास्ट के बाद पुलिस मुझे खोज रहे हैं. मुझे तो पता भी नहीं था कि समझौता क्या है लेकिन मुझे सरेंडर करने के लिए कहा गया.’

असीमानंद ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उन्हें हिंदू आतंकवाद के नाम पर फंसाया और टॉर्चर किया. उन्होंने कहा कि जो अपराध मैंने स्वीकार किया था वे मुझसे जबरदस्ती स्वीकार करवाए गए थे और मुझे टॉर्चर किया गया था.’

हाल ही में असीमानंद को 2007 के समझौता ब्लास्ट केस में पंचकुला की एक स्पेशल कोर्ट ने बरी कर दिया था. जबकि एनआईए स्पेशल कोर्ट ने मार्च 2017 अजमेर ब्लास्ट केस और अप्रैल 2018 में मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में बरी कर दिया था.

17-18 फरवरी 2007 को समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट हुआ था जिसमें 68 लोगों की मौत हो गई थी. इसके बाद हैदराबाद के मक्का मस्जिद ब्लास्ट हुआ जिसमें नौ लोगों की मौत हो गई थी. अक्टूबर 2007 में अजमेर के ख्वाजा चिश्ती दरगाह में ब्लास्ट होने पर तीन लोगों की मौत हो गई थी.

साभार- हिन्दी नयूज़18 डॉट कॉम

Top Stories