स्वामी सच्चिदानंद सहित चार महंतों ने आश्रम में चार साध्वियों से किया गैंगरेप

स्वामी सच्चिदानंद सहित चार महंतों ने आश्रम में चार साध्वियों से किया गैंगरेप

बस्ती (यूपी) : संत कुटीर आश्रम के बाबा स्वामी सच्चिदानंद सहित चार महंतों पर साध्वियों के साथ गैंग रेप का आरोप लगा है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि छत्तीसगढ़ की दो और बस्ती की दो लड़कियों ने शिकायत में बाबा और महंतों के खिलाफ मारपीट, यौन शोषण और दुष्कर्म का आरोप लगाया है। संत कुटीर आश्रम सदर कोतवाली क्षेत्र के अमहट घाट के पास है। पुलिस के मुताबिक पीड़ित साध्वियों का आरोप है कि आश्रम में उनके साथ दुष्कर्म किया जाता था, मना करने पर रस्सी से बांध कर यातनाएं दी जाती थीं।

बस्ती के कोतवाली थाना क्षेत्र के बड़े वन चौराहे के पास सत्यलोक आश्रम रिलीजियस ट्रस्ट का एक आश्रम संचालित होता है। इसके महंत बाबा सच्चिदानंद उर्फ दयानंद हैं, इस ट्रस्ट की देश भर मे शाखायें है और बाबा सच्चिदानंद घूम-घूमकर सत्संग करते हैं। मगर सत्संग की आड़ में उनके काले कारनामों को उनके ही आश्रम की चार भक्तों ने उजागर कर दिया।

बाबा के आश्रम में 2009 में छत्तीसगढ़ से दो लड़कियों को बहला फुसलाकर बाबा के चेलों द्वारा लाया गया। आरोप है कि बाबा ने उन्हें बरगलाकर अपने वश में कर लिया। उनके दिमाग पर जीवन कल्याण करने के लिये बाबा की शरण में ही रहने की बात को इस तरह से भर दिया गया कि लड़कियां चाहकर भी शुरु में विरोध नहीं कर सकी, और धीरे-धीरे बाबा की सबसे चहेती बाई ने लड़कियों को बाबा के पास भेजा, जहां बाबा सच्चिदानंद ने उनके साथ रेप किया।
इस पूरे मामले में पुलिस की राडार पर कई चेले भी हैं।
पुलिस को शक है कि बाबा के चेले भी इस घिनौने कृत्य में लिप्त हैं।

पीड़ित लड़कियों को कुछ दिनों बाद बाबा की असलियत पता चली कि कैसे बाबा सत्संग की आड़ में लड़कियों का यौन शोषण का रहा है। पीड़ित लड़कियों ने आरोप लगाया कि अगर वे विरोध करती तो उनके साथ मारपीट की जाती।
आश्रम के अंदर ही कमरे में कई दिनों तक भूखे रखा जाता था। बाबा के चंगुल से किसी तरह बचकर लड़कियां बाहर आई और आज मामला पुलिस के पास पहुंच गया।
बहरहाल शिकायत मिलते ही कोतवाली पुलिस हरकत में आ गई और तत्काल आश्रम पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है।

Top Stories