Monday , December 11 2017

स्विट्जरलैंड में नक़ाब पर पहनने पर लगेगी रोक

ज्यूरिख: स्विट्जरलैंड की संसद के निचले सदन ने महिला के नकाब पर प्रतिबंध के लिए बिल को मामूली बहुमत से मंजूरी दे दी है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

यह बिल दक्षिणपंथी राजनीतिज्ञ वाल्टर वूबमेन ने पेश किया था। यह वही साहब हैं जिन्होंने 2009 में स्विट्जरलैंड में मस्जिदों के नए मीनारों के निर्माण पर प्रतिबंध के लिए सफलतापूर्वक अभियान चलाया था. अब उनका बिल सदन में चर्चा और राय वोट के लिए प्रस्तुत किया गया है. उपरी सदन के और सरकार की ओर से मंजूरी के बाद यह विधेयक कानून बन जाएगा।
वूबमेन आप्रवासियों के विरोधी पीपुल्स पार्टी से संबंध रखते हैं। उनका स्टैंड है कि मुस्लिम महिलाओं के चेहरे पर घूंघट ओढ़ने से संबंधित विधेयक से स्विस संस्कृति को सुरक्षित बनाया जा सकेगा और कट्टरपंथी इस्लाम को रोक लगाई जा सकेगी, वह इस मुद्दे पर जनमत संग्रह के पकड़ के लिए भी आंदोलन कर रहे हैं।
उनकी पार्टी के स्विस संसद में सबसे अधिक सीटें हैं। उसने 2015 में आयोजित आम चुनाव में लगभग तीस प्रतिशत सीटें जीती थीं और उसने दक्षिणपंथी से संबंधित अन्य सदस्यों की मदद से यह कानून पेश किया था।
हालांकि इस कानून को सदन में मुश्किल ही से पारित कराया जा सकेगा क्योंकि वहां सोशल डेमोक्रेटिक जैसी पार्टियां इस प्रतिबंध का विरोध कर रही हैं और उनकी सदन में अधिक सीटें हैं।
अगस्त में जनमत की समीक्षा में 71 प्रतिशत स्विस मतदाताओं ने देश भर में बुर्का पर प्रतिबंध का समर्थन किया था। इस साल की शुरुआत में स्विट्जरलैंड के इतालवी भाषा बोलने वाले क्षेत्र टीचीनो में स्थानीय और बाहर से आने वाली महिलाओं पर बुर्का ओढ़ने पर पाबंदी आयद कर दी गई थी।
गौरतलब है कि स्विट्जरलैंड की लगभग पांच प्रतिशत आबादी मुस्लिम है और उनमें बहुत कम महिलायें मुकम्मल नक़ाब या बुर्का ओढ़ती हैं।

TOPPOPULARRECENT