Tuesday , January 23 2018

स्वेता केस की इंकुयरी शफ़्फ़ाफ़-ओ-मुंसिफ़ाना हो

हिंदूस्तानी डेंटिस्ट स्वेता हालपानवार की एयरलैंड में दर्दनाक मौत पर आलमगीर सतह पर बदस्तूर ग़म-ओ-ग़ुस्सा ज़ाहिर किया जा रहा है, और वज़ीर समुंद्र पार हिंदूस्तानी उमूर वेलार रवी ने आज कहा कि हुकूमत की तरफ‌ से हुक्म के मुताबिक़ इंकुयर

हिंदूस्तानी डेंटिस्ट स्वेता हालपानवार की एयरलैंड में दर्दनाक मौत पर आलमगीर सतह पर बदस्तूर ग़म-ओ-ग़ुस्सा ज़ाहिर किया जा रहा है, और वज़ीर समुंद्र पार हिंदूस्तानी उमूर वेलार रवी ने आज कहा कि हुकूमत की तरफ‌ से हुक्म के मुताबिक़ इंकुयरी को शफ़्फ़ाफ़ और मुंसिफ़ाना होना चाहीए।

उन्होंने आइरिश हुकूमत से दरख़ास्त भी की कि लोगों की इस अपील की समाअत के लिए कुछ सियासी अज़म का मुज़ाहरा भी किया जाये कि उन्हें वहां की कैथोलिक कम्यूनिटी के जज़बात को मजरूह किए बगै़र क़ानून इसक़ात-ए-हमल में कुछ हद तक तरमीम ज़रूर करना चाहीए।

मुझे उम्मीद है वो एसा करेंगे। आइरिश हुकूमत ने एलान किया कि इस मामले की तहक़ीक़ात की जाएंगी। रवी ने यहां अख़बारी नुमाइंदों को बताया कि मेरा मानना है कि कोई ग़ैर वाजिबी दबा नहीं रहेगा। ये इंकुयरी मुंसिफ़ाना होनी चाहीए।

TOPPOPULARRECENT