Wednesday , December 13 2017

हज कमेटी की शबाना रोज़ काविशें क़ाबिले सताइश- अहमद नदीम

रियास्ती हज कमेटी की जानिब से आज़मीने हज की रवानगी का अमल मुकम्मल हो जाने पर स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफ़ेसर एस ए शकूर ने आज हुकूमत को तफ़सीली रिपोर्ट पेश करदी। उन्हों ने सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद अहमद नदीम से मुलाक़ात की और हज कैंप

रियास्ती हज कमेटी की जानिब से आज़मीने हज की रवानगी का अमल मुकम्मल हो जाने पर स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफ़ेसर एस ए शकूर ने आज हुकूमत को तफ़सीली रिपोर्ट पेश करदी। उन्हों ने सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद अहमद नदीम से मुलाक़ात की और हज कैंप के इंतेज़ामात और आज़मीन की रवानगी से मुताल्लिक़ तफ़सीली रिपोर्ट हवाले की।

जनाब अहमद नदीम ने हज कैंप के इंतेज़ामात के सिलसिले में हज कमेटी के ओहदेदारों की काविशों की सताइश की और कहा कि आज़मीन के क़ियाम और ताम और दीगर सहूलतों की फ़राहमी में कमेटी के ओहदेदारों ने जिस मुस्तैद्दी का मुज़ाहरा किया वो काबिले सताइश है। सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद ने स्पेशल ऑफीसर और एग्ज़िक्यूटिव ऑफीसर की शबाना रोज़ मेहनत की सताइश करते हुए कहा कि गुज़िश्ता के मुक़ाबला इस मर्तबा हज कैंप के बारे में अवाम और आज़मीने हज से बेहतर इंतेज़ामात की राय हासिल हुई है।

कस़्टम़्स, इमीग्रेशन, जी एम आर एस इंटरनेशनल, सी आई एस एफ़, एयरलाइंस और दीगर मह्कमाजात के ओहदेदारों के साथ 24अक्टूबर को पहला इजलास तलब किया गया है। हुज्जाज किराम की वापसी से क़ब्ल वज़ीरे अक़लीयती बहबूद अहमद उल्लाह और सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद अहमद नदीम की मौजूदगी में एक और इजलास मुनाक़िद होगा। प्रोफ़ेसर एस ए शकूर ने बताया कि हज कमेटी हुज्जाज किराम की वापसी के मौक़ा पर भी बेहतर इंतेज़ामात के साथ इस्तेक़बाल के लिए तैयार है।

TOPPOPULARRECENT