Saturday , December 16 2017

हज कमेटी के ज़रीये अदायगी उमरा के अनक़रीब मवाक़े

ख़ानगी एजेंटस के ज़रीये उमरे को जाने वाले अफ़राद को सही सहूलयात फ़राहम नहीं की जा रही हैं इस तरह की शिकायात वसूल हुई हैं जिस के पेशे नज़र हज कमेटी के तवस्सुत से ही हज के लिए जाने वाले अफ़राद को उमरा अदा करने की सहूलत फ़राहम करने के लिए इक़

ख़ानगी एजेंटस के ज़रीये उमरे को जाने वाले अफ़राद को सही सहूलयात फ़राहम नहीं की जा रही हैं इस तरह की शिकायात वसूल हुई हैं जिस के पेशे नज़र हज कमेटी के तवस्सुत से ही हज के लिए जाने वाले अफ़राद को उमरा अदा करने की सहूलत फ़राहम करने के लिए इक़दामात किए जा रहे हैं।

रियासती वज़ीर इन्फ़ार्मेशन और बुनियादी सहूलयात-ओ-हज रोशन बैग ने ये बात बताई। बैंगलौर मुनाक़िदा हज-ओ-तर्बीयती कैंप का इफ़्तेताह करते हुए रोशन बैग ने बताया कि उस वक़्त हज कमेटी की तरफ् से सिर्फ़ हज सफ़र के लिए ही मौक़ा फ़राहम किया जाता है जबकि उमरा के लिए ख़ानगी ट्रेवल्स के तवस्सुत जाना पड़ता है।

आने वाले दिनों में हज कमेटी की तरफ से ही उमरा अदा करने का मौके फ़राहम किया जाएगा ताके अवाम ख़ानगी ट्रेवल्स के धोके में ना आएं। इस ताल्लुक़ से जल्द ही फ़ैसला किया जाएगा।

वज़ीरमौसूफ़ ने बताया कि 2500 आज़मीने हज्ज को तर्बीयत दी गई है। आज़मीने हज्ज को मदीना में रियायती क़ीमत पर खाना फ़राहम करने के लिए इक़दामात किए गए हैं लेकिन मक्का में आज़मीने हज्ज को क़ियाम की सहूलत फ़राहम की जाएगी।

मक्का में ही रियासत कर्नाटक से ताल्लुक़ रखने वाले आज़मीने हज्ज को रिहायश की सहूलत फ़राहम करने इक़दामात किए जाऐंगे। हज कमेटी के सदर एम एच महमूद वक़्फ़ कमेटी के सदर यूसुफ़, हज कमेटी के एग्जीक्यूटिव ऑफीसर अनीस अहमद और दूसरे इस मौके पर मौजूद थे। हज तर्बीयती कैंप 2 दिन तक जारी रहेगा।

TOPPOPULARRECENT