Monday , December 18 2017

हज कैंप इंतिज़ामात में धांदलियों की शिकायत

रियासती हज कमेटी की तरफ से पिछ्ले साल हज कैंप के दौरान टनडरस की तलबी में मुबय्यना बे क़ाईदगियों की शिकायात के सिलसिले में हुकूमत ने तहक़ीक़ात का हुक्म दिया था।

रियासती हज कमेटी की तरफ से पिछ्ले साल हज कैंप के दौरान टनडरस की तलबी में मुबय्यना बे क़ाईदगियों की शिकायात के सिलसिले में हुकूमत ने तहक़ीक़ात का हुक्म दिया था।

मौजूदा स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफेसर एसए शकूर को एग्जीक्यूटिव ऑफीसर एम ए हमीद और् दुसरे ओहदेदारों पर इल्ज़ामात की तहक़ीक़ात की ज़िम्मेदारी दी गई।

प्रोफेसर शकूर ने तमाम तफ़सीलात और मुताल्लिक़ा अफ़राद से बयानात लेने के बाद रिपोर्ट स्पेशल सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद सय्यद उम्र जलील को पेश करदी है।

वाज़िह रहे कि पिछ्ले साल हज कैंप के इनइक़ाद के मौके पर मुख़्तलिफ़ कामों के सिलसिले में टेंडरस की तलबी में बाअज़ बे क़ाईदगियों की शिकायात मिलें और इस सिलसिले में अख़बारात में ख़बरें शाय हुईं।

हुकूमत ने इस मसले का नोट लेते हुए सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद को इस मुआमले की तहक़ीक़ात की हिदायत दी। सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद ने टेंडरस और दुसरे मुआमलात की जांच के लिए प्रोफेसर एसए शकूर को इन्क्वारी ऑफीसर मुक़र्रर किया था।

बताया जाता है कि आज़मीन-ए-हज्ज को ताम और क़ियाम के इंतेज़ामात के सिलसिले में जो टेंडरस तलब किए गए उन्हें एक मर्तबा मुल्तवी किया गया जिस के बाइस अवाम में कई शुबहात पैदा होगए।

हुकूमत ने टेंडरस की कुशादगी के लिए तीन रुकनी कमेटी तशकील दी थी जिस की क़ियादत प्रोफेसर एसए शकूर ने की। तीन रुकनी कमेटी ने मीडीया के रूबरू टेंडरस की कुशादगी अमल में लाई जिस की मुकम्मिल वीडियोग्राफी की गई।

कमेटी ने टेंडर गुज़ारों को टनडर में दी गई रक़म से भी कम रक़म में ख़िदमात अंजाम देने के लिए आमादा किया। इस के बाद वज़ीर‍ ए‍ अक़लियती बहबूद ने भी टेंडर की रक़म में मज़ीद कुछ कमी के लिए टेंडर गुज़ारों से बातचीत की। तहक़ीक़ाती अफ़्सर प्रोफेसर एसए शकूर ने हज कमेटी के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर एम ए हमीद और दुसरे ओहदेदारों के बयानात रिकार्ड किए और तमाम फाईलों का जायज़ा लेने के बाद हुकूमत को अपनी रिपोर्ट पेश करदी है।

बताया जाता है कि इस रिपोर्ट में टेंडरस की तलबी के तरीका-ए-कार से लेकर कुशादगी तक की तमाम तफ़सीलात दर्ज की गईं। बताया जाता है कि हुकूमत इस रिपोर्ट का जायज़ा ले रही है और रिपोर्ट में पेश की गई सिफ़ारिशात के मुताबिक़ कार्रवाई की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT