Saturday , December 16 2017

हज दरख़्वास्तें दाख़िल करने की 15 मार्च आख़िरी तारीख

हज 2014 के लिए गुज़िश्ता दस दिन में तक़रीबन 9000 आज़मीने हज ने दरख़ास्त फ़ार्म हासिल किए जबकि 1806 आज़मीने हज ने अपनी दरख़ास्तें दाख़िल की हैं। दरख़ास्तों के इदख़ाल की आख़िरी तारीख़ 15 मार्च मुक़र्रर की गई है। तमाम दरख़ास्तें ऑनलाइन करदी गईं

हज 2014 के लिए गुज़िश्ता दस दिन में तक़रीबन 9000 आज़मीने हज ने दरख़ास्त फ़ार्म हासिल किए जबकि 1806 आज़मीने हज ने अपनी दरख़ास्तें दाख़िल की हैं। दरख़ास्तों के इदख़ाल की आख़िरी तारीख़ 15 मार्च मुक़र्रर की गई है। तमाम दरख़ास्तें ऑनलाइन करदी गईं और इस के लिए हज कमेटी ने ज़ाएद अमले की ख़िदमात हासिल की हैं।

स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफ़ेसर एस ए शकूर ने बताया कि 70 साल से ज़ाएद उम्र के आज़मीन के महफ़ूज़ ज़ुमरे के तहत 58 और मुसलसल तीन मर्तबा क़ुरआ अंदाज़ी में इंतिख़ाब से महरूम ज़ुमरे में 155 दरख़ास्तें वसूल हुई हैं जबकि 1593 दरख़ास्तें नए आज़मीन की हैं।

प्रोफ़ेसर एस ए शकूर ने कहा कि दोनों महफ़ूज़ ज़ुमरों के तहत आने वाले आज़मीने हज दरख़ास्त फ़ार्म के साथ अपना ओरीजनल पासपोर्ट दाख़िल करें। प्रोफ़ेसर एस ए शकूर वक़्तन फ़वक़्तन दरख़ास्तों की इजराई और वसूली का जायज़ा ले रहे हैं। उन्हों ने आज़मीने हज से मुलाक़ात करते हुए उन के मसाइल की समाअत की।

TOPPOPULARRECENT