Thursday , April 26 2018

हज यात्रियों के किराए में की गयी कटौती, 45 फीसदी तक भाड़े में आयेगी कमी

हज पर जाने वाले मुस्लिमों के लिए हज यात्रा 2018 में सरकारी सब्सिडी खत्म करने के बाद केंद्र सरकार ने भारतीय हज यात्रियों के लिये किराये में कमी की घोषणा की है।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बताया कि अलग -अलग स्थानों के लिये यह कटौती 15 से 45 प्रतिशत तक की हुई है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हज 2018 बिना सरकारी सब्सिडी के होगा, वहीं लम्बे अर्से बाद हज यात्रा के लिये हवाई किराया सबसे सस्ता होगा। इस बार हज यात्रा के लिये कश्मीर के यात्रियों को दिल्ली से भी जाने का विकल्प दिया गया है।

वहीं इंदौर के हज यात्री भोपाल और मुम्बई के रास्ते हज यात्रा पर जा रहे हैं। 2013 में संप्रग सरकार द्वारा हज 2014 के मुंबई से हज यात्रा का हवाई किराया 98,750 रूपये था, जो अब घट कर 57,857 रूपये हो गया है।

आपको बता दें कि अलग -अलग स्थानों से हज यात्रा के लिए किराया बहुत कम हो गया है। मिसाल के तौर पर श्रीनगर से किराया 2013-14 में 1,98,350 रूपये था जो अब घटाकर 1,01,400 रूपये कर दिया गया.इसी तरह अहमदाबाद से किराया 98,750 रूपये से घटकर 2018 में 65,015 रूपये हो गया।

भोपाल का किराया 1,27,750 रूपये से घटकर 2018 में 91,090 रूपये कर दिया गया है। यह सूची बहुत लम्बी है। नकवी ने यह भी बताया कि मोदी सरकार लगातार दूसरे साल भी भारत के हज कोटे में वृद्धि करने में सफल हुई है।

TOPPOPULARRECENT