Sunday , November 19 2017
Home / AP/Telangana / हज 2016 के लिए 20 मार्च को हज हाउस में क़ुरआ अंदाज़ी

हज 2016 के लिए 20 मार्च को हज हाउस में क़ुरआ अंदाज़ी

हैदराबाद 16 मार्च: हज 2016 के लिए आज़मीने हज्ज की क़ुरआ अंदाज़ी 20 मार्च को हज हाउज़ नामपली में मुक़र्रर है। तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के आज़मीने हज्ज की क़ुरआ अंदाज़ी एक ही दिन में होगी दोनों रियासतों के लिए अलग अलग वक़्त मुक़र्रर किया गया है। यूं तो सेंट्रल हज कमेटी ने हज कोटा का बाक़ायदा एलान नहीं किया दोनों रियासतों के लिए पिछ्ले साल के मुताबिक़ ही हज कोटा अलाट होने की उम्मीद है। हुकूमत सऊदी अरब ने सेंट्रल हज कमेटी के लिए पिछ्ले साल के बराबर ही हज कोटा अलाट किया है और रियासतों में मुस्लिम आबादी के एतबार से हज कमेटी कोटा का ताय्युन करेगी।

तेलंगाना में यूं तो जुमला 17394 दरख़ास्तें दाख़िल की गईं लेकिन क़ुरआ अंदाज़ी तक़रीबन 550 आज़मीन के लिए ही होगी क्युं कि 2204 आज़मीने हज्ज दो महफ़ूज़ ज़मरों के तहत पहले ही मुंतख़ब हो चुके हैं। इस तरह आम ज़मुरा में मौसूला 15190 आज़मीन की दरख़ास्तों में से तक़रीबन 550 का ही क़ुरआ अंदाज़ी से इंतेख़ाब होगा और हज़ारों आज़मीन को मायूसी हो सकती है। स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफेसर एस ए शकूर के मुताबिक़ पिछ्ले साल तेलंगाना का हज कोटा 2760 था जबकि वेटिंग लिस्ट के बाद 2969 आज़मीने हज्ज रवाना हुए थे। पिछ्ले साल जुमला 16652 दरख़ास्तें मौसूल हुई थीं जबकि इस मर्तबा 17394 दरख़ास्तें दाख़िल की गई हैं जिनमें सबसे ज़्यादा 11487 दरख़ास्तें हैदराबाद से दाख़िल की गईं जबकि सबसे कम 214 खम्मम से दाख़िल हुई हैं।

उन्होंने बताया कि इतवार को 11 बजे दिन तेलंगाना और 3 बजे सहि पहर आंध्र प्रदेश के लिए क़ुरआ अंदाज़ी होगी। तेलंगाना की क़ुरआ अंदाज़ी में डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर मुहम्मद महमूद अली, मुस्लिम अवामी नुमाइंदे और अक़लियती बहबूद के ओहदेदार शिरकत करेंगे जबकि आंध्र प्रदेश की क़ुरआ अंदाज़ी में वज़ीर-ए-क़लीयाती बहबूद पी रघूनाथ रेड्डी, कमिशनर अक़लियती बहबूद शेख़ मुहम्मद इक़बाल और आंध्र के मुस्लिम अवामी नुमाइंदे शरीक होंगे।

आंध्र प्रदेश में जुमला 3261 दरख़ास्तें दाख़िल हुई हैं जिनमें 3066 आम ज़मुरा के तहत हैं। पहले महफ़ूज़ ज़मुरा में 147 और दूसरे में 48 इस तरह जुमला 195 दरख़ास्तें महफ़ूज़ ज़मुराजात में दाख़िल हुई हैं जिन के लिए क़ुरआ अंदाज़ी की ज़रूरत नहीं। करनूल से 777 और सबसे कम सिर्फ़ 8 दरख़ास्तें श्रीकाकुलम से दाख़िल की गईं। पिछ्ले साल आंध्र प्रदेश का हज कोटा 2245 था और वेटिंग लिस्ट के बाद 2404 आज़मीन रवाना हुए थे। प्रोफेसर एस ए शकूर ने बताया कि अंदरून दो दिन सेंट्रल हज कमेटी तमाम रियासतों के लिए हज कोटा का एलान कर देगी। तेलंगाना हुकूमत हज कोटा में इज़ाफे के लिए मर्कज़ी हुकूमत से नुमाइंदगी कर रही है। इस बार भी तेलंगाना हज कमेटी दोनों रियासतों के आज़मीन की ख़िदमत करेगी।

TOPPOPULARRECENT