Monday , December 18 2017

हदीस शरीफ

हज़रत अब्बू सईद ख़दरी रज़ी अल्लाहो तआला अन्हो से रिवायत है रसूल ल्लाहो सल्लाहो अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया अल्लाह तआला के कलाम की फ़ज़ीलत तमाम कलामों पर ऐसी है जैसे अल्लाह तआला की अज़मत-ओ-बुजु़र्गी उस के बंदों पर है । तिरमिज़ी शरी

हज़रत अब्बू सईद ख़दरी रज़ी अल्लाहो तआला अन्हो से रिवायत है रसूल ल्लाहो सल्लाहो अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया अल्लाह तआला के कलाम की फ़ज़ीलत तमाम कलामों पर ऐसी है जैसे अल्लाह तआला की अज़मत-ओ-बुजु़र्गी उस के बंदों पर है । तिरमिज़ी शरीफ़

TOPPOPULARRECENT