Friday , December 15 2017

हदीस शरीफ

रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने इरशाद फ़रमाया आमाल का दार-ओ-मदार नीयतों पर है , आदमी को वही मिलता है जिस की उस ने नीयत की हो । (बुख़ारी शरीफ़)

रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने इरशाद फ़रमाया आमाल का दार-ओ-मदार नीयतों पर है , आदमी को वही मिलता है जिस की उस ने नीयत की हो । (बुख़ारी शरीफ़)

TOPPOPULARRECENT