Tuesday , May 22 2018

हदीस शरीफ

हज़रत जाबिर रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया जिस शख़्स ने कोई कुँआं खुदवाया और इस कुँवें से किसी प्यासे ने प्यास बुझाई तो ये कुँआं खुदवाने वाला बहुत बड़े अज्र का मुस्तहिक़ है और जिस ने कोई मस्जिद

हज़रत जाबिर रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया जिस शख़्स ने कोई कुँआं खुदवाया और इस कुँवें से किसी प्यासे ने प्यास बुझाई तो ये कुँआं खुदवाने वाला बहुत बड़े अज्र का मुस्तहिक़ है और जिस ने कोई मस्जिद बनाई तो इस मस्जिद की मानिंद (तरह) इस का जन्नत में घर बनाया जाएगा , मस्जिद ख़ाह कितनी ही छोटी क्यों ना हो । (इबन हज़ीमा)

TOPPOPULARRECENT