Thursday , December 14 2017

हद पार कर रहे हैं इल्ज़ाम लगाने वाले: हसीबा अमीन

आइंदा लोकसभा इंतेखाबात के मद्देनजर कांग्रेस की ओर से जारी किए ताजा इश्तेहार में जिस लडकी को दिखाया दर्शाया गया है उसको लेकर खासा तनाजा छिडा हुआ है। दरअसल वह लडकी और कोई नहीं गोवा एनएसयूआई की सदर हसीबा अमीन है। सोशल साइट टि्वटर और

आइंदा लोकसभा इंतेखाबात के मद्देनजर कांग्रेस की ओर से जारी किए ताजा इश्तेहार में जिस लडकी को दिखाया दर्शाया गया है उसको लेकर खासा तनाजा छिडा हुआ है। दरअसल वह लडकी और कोई नहीं गोवा एनएसयूआई की सदर हसीबा अमीन है। सोशल साइट टि्वटर और यूट्यूब पर अपने खिलाफ चल रहे मुहिम पर उन्होंने ताजा रद्दे अमल ज़ाहिर करते हुए इल्ज़ाम लगाने वाले लोगों को खबरदार किया है। उन्होंने कहा कि इल्ज़ाम लगाने वाले हद पार कर रहे है और मुझे परेशान करने में लगे हुए है।

साथ ही गोवा एनएसयूआई की तरफ से एक बयान जारी कर कहा कि हसीबा के खिलाफ किया जा रहा प्रोपागंडा (Propaganda) बेबुनियाद है इस फौरन रोका जाना चाहिए। कांग्रेस की Student wing National Students Union of India (एनएसयूआई) इसे हसीबा पर सोशल मीडिया में लगाए जा रहे सभी इल्ज़ामात की पुरजोर तरदीद की है। एनएसयूआई के कौमी सदर रोहित चौधरी ने कहा कि यह गोवा की एनएसयूआई सदर हसीबा की शबिया ( इमेज) को खराब करने की कोशिश है।

जारी नोटीफिकेशन में कहा गया है कि हसीबा एक मिडिल क्लास की है और उन्हें जम्हूरी तरीके से तंज़ीम में जिम्मेदारी मिली है। उनके खिलाफ किसी तरह का कोई मामला नहीं चल रहा है न ही उनके खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज हुई है। नोटीफिकेशन में अपोजिशन को हसीबा के खिलाफ सुबूत पेश करने की चुनौती भी दी गई है। जबकि, सोशल मीडिया में हसीबा पर इल्ज़ाम लग रहे हैं कि वह 300 करोड के टैंक घोटाले में शामिल रही हैं और जेल भी गई हैं। इस घोटाले में शामिल होने पर हसीबा ने कहा कि इश्तेहार आने के बाद जांच शुरू हुई है।

सोशल मीडिया में झूठी तश्हीर हो रही है। इश्तेहार आने के बाद मुझे परेशान किया जा रहा है। सोशल मीडिया में यह चर्चा है कि जब वह गोवा एनएसयूआई की फरवरी 2012 में सदर बनीं तो अपने नायबसदर सुनील कावथंकर को निकाले जाने की मांग की। क्योंकि वह करप्शन के खिलाफ लडाई लड रहे थे। इसके जवाब में उन्होंने इसे कुबूल किया कि वह सुनील के खिलाफ पार्टी मंच पर ही पार्टी के कोर्ड ऑफ कंडक्ट तो़डने की वजह से कार्रवाई करने की मांग की थी।

लेकिन इसे सुलझा लिया गया और वह हमारे साथ अभी भी काम कर रहे हैं। हसीबा ने कहा कि मेरा एड ( इश्तेहार) आने के बाद यह जो सोशल मीडिया में जो ड्रामा या नाटक चल रहा है उससे मैं बहुत मायूस हूं। सोशल मीडिया पर जो गलत तश्हीर अपलोड किया गया है वह अपोजिशन ने ही करवाया है।

TOPPOPULARRECENT