हमारे स्वयंसेवक आर्मी से भी पहले तैयार होकर मौके पर पहुंचने में सक्षम होंगे- मोहन भागवत

हमारे स्वयंसेवक आर्मी से भी पहले तैयार होकर मौके पर पहुंचने में सक्षम होंगे- मोहन भागवत

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने बिहार के मुजफ्फरपुर में आयोजित आरएसएस के पांच दिवसीय कार्यक्रम में एक विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि सेना के लोग युद्ध की स्थिति में तैयार होने में छह से सात महीने का वक्त लगा सकते हैं लेकिन हमारे लोग यानी संघ के कार्यकर्ता दो से तीन दिन में ही तैयार हो जाएंगे।

भागवत ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि अगर संविधान और कानून इजाजत दे तो युद्ध की स्थिति में हमारे स्वयंसेवक सेना से भी पहले तैयार होकर मौके पर पहुंचने में सक्षम होंगे।

भागवत ने कहा कि अनुशासन ही संघ की पहचान है। बता दें कि मोहन भागवत पिछले पांच दिनों से मुजफ्फरपुर में डटे हुए हैं। भागवत ने कहा कि उनका संगठन पारिवारिक है लेकिन उसमें अनुशासन बहुत है।

इस दौरान भागवत ने बिहार-झारखंड से आए किसानों और अन्य तबके के लोगों से मुलाकात की। इससे पहले संघ प्रमुख ने पूसा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के पूर्व कुलपति गोपालजी त्रिवेदी के सुझावों का ज्ञापन केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह को सौंपते हुए आवश्यक कदम उठाने को कहा।

भागवत ने शिविर में मौजूद लोगों को गोपालन का सुझाव दिया। उन्होंने शहरों में गायों के लिए आवासीय हॉस्टल खोलने पर भी जोर दिया। भागवत ने देहाती नस्लों की गायों के संरक्षण पर भी जोर देने की वकालत की।

Top Stories