Monday , December 11 2017

हमारे फ़ौजी अफ़सर सीरिया नहीं गए – ईरानी चीफ़ कमांडर

अगर्चे ईरान अपने ब्यानात में सीरिया के महाज़ों पर अपने फौजी अहलकारों की मौजूदगी पर फ़ख़र का इज़हार करता रहा है ताहम ईरानी फ़ौज के चीफ़ कमांडर मेजर जनरल ख़रज अता उल्लाह सालेही की जानिब से एक दिलचस्प बयान सामने आया है जिसमें उनका कहना है कि “ग्रीन बैरेट्स” के नाम से मारूफ़ ईरानी फ़ौज का ब्रिगेड 65 सीरिया नहीं गया।

सालेही का ये बयान सीरिया के शहर हलब के नवाह में मज़कूरा ब्रिगेड के मुतअद्दिद अरकान की हलाकत की ख़बरों के बाद सामने आया है। ईरानी न्यूज़ एजैंसी फ़ारस के मुताबिक़ मेजर जनरल सालेही ने बताया कि “मुशावरती अस्करी फ़ोर्स” को सीरिया भेजना ये फ़ौज की ज़िम्मेदारी नहीं है और एक दूसरा इदारा (पासदाराने इन्क़िलाब) अस्करी अहलकारों को भेज रहा है।

ईरान की मारूफ़ न्यूज़ एजैंसीयों के मुताबिक़ इस तरह की ख़बरें भी सामने आई हैं कि तेहरान ने सीरिया में पासदाराने इन्क़िलाब और उस के ज़ेरे इंतिज़ाम मिलिशियाओं की सपोर्ट के लिए ईरानी फ़ौज के कमांडोज़ के ख़ुसूसी दस्तों को भेजा है।

इस बात का ईरानी फ़ौज के चीफ़ कमांडर इनकार करते हैं ताहम साथ ही वो तस्लीम करते हैं कि उनकी फ़ौज के बाअज़ अफ़राद रज़ाकाराना तौर पर गए हैं और वहां “ज़िम्मेदार इदारे” (पासदाराने इन्क़िलाब) के मातहत हैं।

TOPPOPULARRECENT