Tuesday , November 21 2017
Home / India / हमें हिंसा और असहिष्णुता के ख़िलाफ़ एक होना होगा – प्रणब मुखेर्जी

हमें हिंसा और असहिष्णुता के ख़िलाफ़ एक होना होगा – प्रणब मुखेर्जी

नई दिल्ली : 67वें गणतंत्र दिवस की शाम के मौक़े पर राष्ट्रपति प्रणब मुखेर्जी ने इशारों ही में उन सभी ताक़तों को चेतावनी दी जो लड़ाई झगडे की बात करती हैं और एकता पसंद नहीं करतीं. उन्होंने कहा कि हमें हिंसा और असहिष्णुता के ख़िलाफ़ एकजुट होना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि वैचारिक आज़ादी ही के ज़रिये फ़ैसले लिए जा सकते हैं.

राष्ट्रपति जो कि मुल्क की तमाम सेंट्रल यूनिवर्सिटीज के चांसलर भी होते हैं ने यूनिवर्सिटीयों के अन्दर बेहतर माहौल की बात करी और बौद्धिक सोच को बढाने के लिए काम करने को कहा.

उन्होंने हिन्दुस्तान पकिस्तान की दोस्ती की भी बात की और कहा कि बातचीत चलती रहनी चाहिए.

TOPPOPULARRECENT