Friday , August 17 2018

हम अहंगी के साथ निकाला जायेगा मुहर्रम का जुलूस

रांची शहर में सेंट्रल मुहर्रम कमेटी की बैठक मंगल को गुदरी वाक़ेय दफ्तर में मोहम्मद सलाउद्दीन ‘संजू’ की सदारत में हुई। इसमें रांची शहर सेंट्रल मुहर्रम कमेटी के ओहदेदारों और मेंबरों के साथ लीलू अखाड़ा के तहत आने वाले तमाम खलीफा और

रांची शहर में सेंट्रल मुहर्रम कमेटी की बैठक मंगल को गुदरी वाक़ेय दफ्तर में मोहम्मद सलाउद्दीन ‘संजू’ की सदारत में हुई। इसमें रांची शहर सेंट्रल मुहर्रम कमेटी के ओहदेदारों और मेंबरों के साथ लीलू अखाड़ा के तहत आने वाले तमाम खलीफा और ओहदेदार शामिल हुए।

इसमें फैसला लिया गया कि इस साल के मुहर्रम का जुलूस हम अहंगी के माहौल में निकाला जायेगा। चांद की पांचवीं को लीलू अखाड़ा के सरबराह खलीफा मतीउर्रहमान नेहरू के लेक रोड वाक़ेय इमामबाड़ा में रात नौ बजे निशान (अलम) खड़ा किया जायेगा।

छठवीं को मुखतलिफ़ अखाड़ों के इमामबाड़ों में नेयाज फतिहा और निशान खड़ा करने के बाद दस्तारबंदी की जायेगी। सातवीं को हर एक अखाड़ा के खलीफा अपने-अपने इलाकों में खेल का मुजाहेरा करेंगे। उसी दिन दोपहर तीन बजे गौसनगर में रस्मे पगड़ी और शाम सात बजे लीलू अखाड़ा के सरबराह खलीफा मतीउर्रहमान के पास रस्मे पगड़ी और असलाह मुक़ाबला होगी। बैठक में मतीउर्रहमान, हाजी जुबैर, मो इसलाम, मो हारून, हाजी बिलाल कुरैशी, मो शकील, मो सईद, हसन रजा, रजी अहमद रजा, मो काजिम और दीगर मौजूद थे।

मजलिस ए शहीदाने करबला आज से

मुहर्रम के मौके पर मस्जिद ए जाफरिया और वकील सैयद यावर हुसैन की तरफ से दस रोजा मजलिस ए शहीदाने करबला का एंकाद किया गया है। इसमें मौलाना तहजीबुल हसन इमाम हुसैन की ज़िंदगी पर रोशनी डालेंगे। मजलिस छह नवंबर से शाम सात बजे शुरू होगी। 15 नवंबर को शिया कॉमयूनिटी की तरफ से मर्कज़ी जुलूस निकाला जायेगा।

TOPPOPULARRECENT