हरियाणा के DIG से भीड़ ने की मारपीट, वीडियो हुआ वायरल

हरियाणा के DIG से भीड़ ने की मारपीट, वीडियो हुआ वायरल

हरियाणा विजिलेंस ब्यूरो के डीआईजी हेमंत कलसन के साथ सितबंर महीने में पिंजौर के पास रोड रेज की एक घटना में मारपीट की गई थी. ये घटना कुछ वीडियो क्लिप के वायरल होने के बाद सामने आई है. इस घटना में कोई एफआईआर दर्ज नहीं कराई गई है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, 23 सितंबर को पिंजौर के पास एक रोड रेज की घटना हुई थी, जिसमें एक भीड़ ने डीआईजी कलसन के साथ मारपीट की थी. इस घटना पर कोई एफआईआर नहीं दर्ज कराई गई, बस पुलिस रजिस्टर में इसे नोट कर लिया गया था क्योंकि दोनों पक्षों में बातचीत से मामला सुलझा लिया गया था. कलसन ने इसके बाद अपना मेडिकल चेकअप करवाया जिसमें उन्हें कोई गंभीर चोट नहीं आई थी.

पिंजौर पुलिस स्टेशन के सूत्रों ने बताया, ‘समझौते में कहीं भी इस मामले में लिप्त लोगों के नामों का जिक्र नहीं किया गया है. वीडियो क्लिप में हेमंत कलसन सादे कपड़ों में दिख रहे हैं. उनके मुंह पर खून लगा हुआ है और वो खुद का परिचय हरियाणा पुलिस में डीआईजी के तौर पर दे रहे हैं. वो हाथ जोड़कर कह रहे हैं- भाई गलती हो गई, हाथ जोड़ दिए और क्या करूं.’

डीआईजी कलसन की तैनाती सेक्टर 17 के पंचकूला विजिलेंस स्टेशन पर है. उन्होंने इस घटना के बारे में बताते हुए कहा, ‘जब मैं पंचकूला विजिलेंस पुलिस स्टेशन से पिंजौर में अपने भाई के घर आ रहा था, तब ये घटना हुई थी. मेरे साथ मेरे दोस्त राजेश वशिष्ठ थे. मैं ड्राइव कर रहा था. रास्ते में बाईपास की शुरुआत में ही एक शराब की दुकान थी और वहां बहुत सी गाड़ियां खड़ी थीं. तभी स्कॉर्पियो के एक ड्राइवर ने लापरवाही से अोवरटेक कर लिया. मैंने उसका पीछा करके उसे रोका. मैंने पीसीआर में कॉल करके बुलाया और उन्हें ड्राइवर को सौंप दिया. मैंने ड्राइवर को तीन-चार थप्पड़ भी मारे. तभी शराब की दुकान पर खड़े लोगों ने मुझ पर हमला किया. मैंने उनसे हिंसा न करने को कहा.’

डीआईजी कलसन ने बताया कि उनकी मदद के लिए पिंजौर से कुछ लोग आए. बाद में पता चला कि स्कॉर्पियो का ड्राइवर उनके दोस्त का परिचित था. इसके बाद हमने बातचीत से मामला सुलझा लिया. उन्होंने कहा कि भीड़ ने उनपर हमला हुआ था. उनमें कुछ असामाजिक तत्व शामिल रहे होंगे और ये किसी गलतफहमी की वजह से हुआ होगा.

Top Stories