Wednesday , September 26 2018

हरीफ़ फ़लस्तीनी क़ाइदीन की बातचीत, पेशरफ़त के बावजूद नाकाम

क़ाहिरा । 26 नवंबर (ए पी) फ़लस्तीन के हरीफ़ क़ाइदीन ने एक तवील वक़फ़ा के बाद गुज़शता रोज़ मसालहती बातचीत की, जिस के बाद ऐलान किया कि इक़तिदार में हिस्सादारी केलिए मुज़ाकरात में पेशरफ़त तो हुई है, लेकिन दीगर कई अहम मसाइल की यकसूई में नाकामी हुई

क़ाहिरा । 26 नवंबर (ए पी) फ़लस्तीन के हरीफ़ क़ाइदीन ने एक तवील वक़फ़ा के बाद गुज़शता रोज़ मसालहती बातचीत की, जिस के बाद ऐलान किया कि इक़तिदार में हिस्सादारी केलिए मुज़ाकरात में पेशरफ़त तो हुई है, लेकिन दीगर कई अहम मसाइल की यकसूई में नाकामी हुई है। 4 साल क़बल ग़ज़ा पट्टी पर इस्लामी अस्करीयत पसंद तंज़ीम हम्मास के कंट्रोल के बाद मग़रिबी ममालिक के ताईद याफ़ता फ़लस्तीनी सदर महमूद अब्बास और मग़रिब के मुख़ालिफ़ हम्मास के सरबराह ख़ालिद मशअल के माबैन क़ाहिरा में ये पहली मुलाक़ात की थी।

दो घंटे की बातचीत के दौरान मुत्तहदा उबूरी हुकूमत के क़ियाम और इंतिख़ाबात के लिए तारीख़ के ताय्युन जैसे अहम मसाइल पर कोई समझौता नहीं होसका। दोनों क़ाइदीन की मुलाक़ात ने कई सवालात उठाए हैं, जिन में ये भी है कि आया हरीफ़ क़ाइदीन इक़तिदार में हिस्सादारी पर संजीदा हैं या महिज़ टाल मटोल करना चाहते हैं। दोनों के दरमयान फूट के सबब मग़रिबी किनारा और ग़ज़ा की हुकूमतों के दरमयान मुसाबक़त जारी है, जिस के नतीजा में इसराईल के साथ अमन कोशिशें पेचीदा होगई हैं। दोनों क़ाइदीन ने कहा कि मुसबत माहौल में बातचीत हुई है और वो अपनी देरीना रक़ाबत के बावजूद साझेदारी केलिए तैय्यार हैं।

TOPPOPULARRECENT