हर किसी को इस्लाम का असल मतलब समझाने के लिए खुले फ्रांस की मस्जिदों के दरवाज़े।

हर किसी को इस्लाम का असल मतलब समझाने के लिए खुले फ्रांस की मस्जिदों के दरवाज़े।
Click for full image

ऐसे वक्त में जब चंद आतंकी ग्रुप इस्लाम को ढाल बना कर अपने नापाक इरादों को पूरा करने में लगे हुए हैं और इस्लाम को बदनाम करने का काम कर रहे हैं वहीँ फ्रांस की सैंकड़ों ऐसी मस्जिदें हैं जिन्होंने जिम्मा लिया है इस्लाम की सही और असल तस्वीर लोगों के सामने लाने का। ऐसा करने के लिए उन्होंने एक बहुत ही ख़ास तरीका अपनाया है जिस से वह न सिर्फ लोगों को मस्जिद आने का खुला न्यौता दे रहे हैं बल्कि उन्हें वहां चाय पेश करने के साथ साथ इस्लाम के बारे में भी बताया करेंगे।

इस नई सोच के साथ नई पहल की है फ्रांस के “फ्रेंच कौंसिल ऑफ़ द मुस्लिम फेथ” ने; इस पहल का मतलब सिर्फ लोगों को इस्लाम के बारे में बताना भर नहीं है बल्कि लोगों के साथ आपसी साँझ बढ़ाना भी है। इस पहल के बारे में और बताते हुए कफकम के प्रधान /प्रेजिडेंट अनूअर कबिबेच ने बताया कि लोगों को इस्लाम का सही मतलब समझाने के लिए यहाँ कई तरह के प्रोग्राम रखे जा रहे हैं जिसमें आने वाले हर शख्स को कैलीग्राफी वर्कशॉप्स, डिबेट्स और पांच दिन के लिए नमाज़ में शामिल होने के प्रोग्राम शामिल हैं।

इस्लाम को लेकर इस तरह का प्रोग्राम उस वक़्त में शुरू किया गया है जब दुनिया भर में बढ़ रहे आतंकी हमलों को अंजाम देने वाले लोग इसे इस्लामी जिहाद का नाम देकर इस्लाम का नाम बदनाम करने पर तुले हुए हैं।  इस तरह के प्रोग्राम चलने की जरुरत न सिर्फ फ्रांस बल्कि पूरी दुनिया में है तांकि दुनिया से नफरत खत्म हो और हर जगह प्यार की बोली ही बोली और समझी जाए।

Top Stories