Monday , December 18 2017

हर तिब्बी चैलेंज के मुक़ाबले के लिए तैयार रहने तलबा को मश्वरा

करीमनगर,26 मार्च: तिब्बी तालीम हासिल करने वाले तलबा को चाहिए कि पेशा तिब्ब से वाबस्ता हर चैलेन्जस‌ के मुक़ाबले के लिए असरी तरबियत हासिल करें। इन ख़्यालात का इज़हार चेलमेडा आनंद राव‌ दवाख़ाने के चेयरमैन‌ लक्ष्मी नरसिम्हा राव‌ ने बरो

करीमनगर,26 मार्च: तिब्बी तालीम हासिल करने वाले तलबा को चाहिए कि पेशा तिब्ब से वाबस्ता हर चैलेन्जस‌ के मुक़ाबले के लिए असरी तरबियत हासिल करें। इन ख़्यालात का इज़हार चेलमेडा आनंद राव‌ दवाख़ाने के चेयरमैन‌ लक्ष्मी नरसिम्हा राव‌ ने बरोज़ इतवार चेलमेडा आनंद राव‌ दवाख़ाने में रियासत में पहली मर्तबा मुर्दा जिस्मों पर रीढ़ की हड्डियों के ऑपरेशन की अमली तरबियती प्रोग्राम को मुख़ातिब करते हुए किया।

उन्होंने कहा कि अवाम को हर तरह की तिब्बी सहूलतों की फ़राहमी के मक़सद से इस दवाख़ाने का क़ियाम अमल में लाया है और सरकारी मेडिकल कॉलेजों और दीगर ख़ानगी कॉलेजों में ज़ेरे तालीम तलबा को तरबियत देने के लिए भेजने के बजाय अब आनंद राव मेडिकल कॉलेज में तरबियत का इंतिज़ाम किया जा रहा है।

उन्होंने तलबा से कहा कि सारी दुनिया में कहीं भी शोबा तिब्ब से मुताल्लिक़ चैलेञ‌स‌ हो इस के लिए तैयार रहें और किसी भी तरह के ऑपरेशन-ओ-ईलाज के लिए अपने अंदर सलाहियत पैदा करें। मशहूर-ओ-मारूफ़ रीढ़ की हड्डी के ऑपरेशन के डा. सनजे कलवा कटला, न्यूरोसर्जन पी राजेश, मशहूर न्यूरोलोजिस्ट ललीता रियासत के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात से आए हुए पेशा तिब्ब के 60 माहिरीन और तिब्बी कॉलेज के तलबा एस तरबियती कैंप में शरीक थे।

TOPPOPULARRECENT